scorecardresearch
 

रॉबर्ट वाड्रा: खट्टर बोले- दोषी नहीं बचेंगे, हुड्डा ने बताया राजनीतिक बदला

रॉबर्ट वाड्रा पर लैंड डील मामले में दर्ज हुई एफआईआर पर राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है. हरियाणा के सीएम ने कहा कि जो दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. वहीं पूर्व सीएम हुड्डा ने इसे राजनीतिक बदला करार दिया.

मनोहर लाल खट्टर और भूपेंद्र सिंह हुड्डा मनोहर लाल खट्टर और भूपेंद्र सिंह हुड्डा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जीजा रॉबर्ट वाड्रा पर लैंड डील मामले में दर्ज हुई एफआईआर पर राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई है. हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री से लेकर वर्तमान मुख्यमंत्री तक सभी मैदान में उतर आए हैं. राज्य के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने इसे राजनीतिक बदला करार दिया है. आपको बता दें कि एफआईआर में भूपेंद्र सिंह का हुड्डा का नाम भी है.

सारे नियम ताक पर रखकर हरियाणा में रॉबर्ट वाड्रा को करोड़ों का फायदा पहुंचाया गया. यह फायदा जिस वक्त उन्हें पहुंचाया गया उस वक्त हरियाणा में भूपेंद्र सिंह हुड्डा की सरकार थी. अब इस मामले हुड्डा ने कहा कि इसमें राजनीतिक हस्तक्षेप है. मामले में एक निजी शिकायत की गई थी. सरकार न्याय प्रणाली में विश्वास नहीं करती है.

पूर्व सीएम ने कहा कि भगवान उन्हें(सरकार) माफ करें, क्योंकि वे नहीं जानते कि वे क्या कर रहे हैं. यह राजनीतिक बदला है. वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि भ्रष्ट्राचार के खिलाफ पहले दिन से हम लड़ाई लड़ रहे हैं. सीबीआई और विजलेंस में कई मामले पहले से दर्ज हैं. गुरुग्राम के खेड़की दौला थाना में एक और मामला दर्ज हुआ है. खट्टर ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है. जो दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.

सीएम ने कहा कि ढींगरा आयोग ने भी मामले की जांच की थी. हालांकि आयोग की रिपोर्ट पर हाईकोर्ट ने स्टे लगाया है. स्टे हटने के बाद ढींगरा आयोग के रिपोर्ट पर भी कार्रवाई होगी.

'वाड्रा निर्दोष होने का सबूत दें'

योगी सरकार में पिछड़ा विभाग के मंत्री ओम प्रकाश राजभर का कहना है रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ जो एफआईआर हुई है वो जांच के बाद हुई है. लंबे समय से जांच चल रही थी.अगर वो निर्दोष थे तो उनको सबूत देना चाहिए था. विपक्ष कह रहा है कि इसे राजनैतिक तूल दिया जा रहा है. अगर ऐसा है तो वे कोर्ट में जाकर सबूत दें और जांच टीम के सामने निर्दोष होने का सबूत दें.   

'लोकतांत्रिक अधिकारों पर कार्रवाई कर रही सरकार'

तृणमूल कांग्रेस के नेता सोवन देव ने कहा कि मैं इस मामले की योग्यता पर टिप्पणी नहीं कर रहा, लेकिन केंद्र सरकार लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों पर कार्रवाई कर रही है. इनके इरादों पर विश्वास करने के कई कारण हैं. चाहे गांधी परिवार हो या न हो, यह मायने नहीं रखता. सरकार को इस तरह लोगों के अधिकारों को रोकने का अधिकार नहीं है.

'UPA सरकार ने किसानों को लूटा'

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री मोहसिन रजा ने इस मामले पर कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अब एक किसान के द्वारा एफआईआर करने के बाद यह साफ हो गया कि किस तरीके से यूपीए सरकार ने अपने गलत प्रभाव का इस्तेमाल कर किसानों को लूटा है. यह एफआईआर हमारी सरकार ने नहीं बल्कि पीड़ित किसान ने की है और उन्हें लगा कि एक ऐसी सरकार है जहां बात सुनी जाएगी. इसलिए उन्होंने एफआईआर दर्ज कराई है.

'कानून अपना काम कर रहा'

गुरूग्राम से सांसद और मोदी सरकार में मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने इस मामले पर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर पहले भी एफआईआर दर्ज हो चुकी है. राव ने कहा कि कानून अपना काम कर रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें