scorecardresearch
 

गुरमेहर का केजरीवाल कनेक्शन? सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही हैं ये तस्वीरें

अब सोशल मीडिया पर गुरमेहर का संबंध आम आदमी पार्टी से बताने की कोशिश की जा रही है. यूं तो गुरमेहर ABVP के खिलाफ कैंपेन से पीछे हट गई हैं, लेकिन उनके नाम पर विरोध और समर्थन का सिलसिला नहीं थम रहा है.

X
गुरमेहर कौर और राम सुब्रमण्यम गुरमेहर कौर और राम सुब्रमण्यम

रामजस कॉलेज में हुए विवाद के बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विरोध से चर्चा में आई गुरमेहर कौर की तस्वीरें एक बार फिर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. अब सोशल मीडिया पर गुरमेहर का संबंध आम आदमी पार्टी से बताने की कोशिश की जा रही  है. यूं तो गुरमेहर ABVP के खिलाफ कैंपेन से पीछे हट गई हैं, लेकिन उनके नाम पर विरोध और समर्थन का सिलसिला नहीं थम रहा है.

सोशल मीडिया पर गुरमेहर की फिल्ममेकर राम सुब्रमण्यम के साथ तस्वीरें और राम सुब्रमण्यम की आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल व अन्य नेताओं के साथ तस्वीरें शेयर की जा रही हैं. राम सुब्रमण्यम को केजरीवाल का करीबी दिखाते हुए इन्हीं तस्वीरों के आधार पर गुरमेहर को आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता बताया जा रहा है.

दरअसल राम सुब्रमण्यम के फेसबुक पेज 'वॉयस ऑफ राम' पर वर्ष 2016 में भारत-पाकिस्तान के बीच अमन कायम करने के मद्देनजर गुरमेहर कौर का वीडियो प्रमोट किया गया था, जिसमें गुरमेहर ने कहा था, 'पाकिस्तान ने मेरे पिता को नहीं मारा, युद्ध ने उन्हें मारा.'

गुरमेहर का ये वीडियो भारत-पाकिस्तान के बीच शांति बहाली के कैंपेन के तहत बनाया गया था. राम सुब्रह्ण्यम का कहना है कि गुरमेहर के अतीत को जानकर उन्होंने इस फिल्म के लिए उसे चुना था. लेकिन सवाल राम सुब्रमण्यम के सियासी ताल्लुकात को लेकर भी उठ रहे हैं. सोशल मीडिया पर चल रही खबरों में उन्हें केजरीवाल का करीबी और उनकी कैंपेन को मोदी सरकार के खिलाफ साजिश का हिस्सा करार दिया जा रहा है.

गुरमेहर कौर के समर्थन में राम सुब्रमण्यम ने वीडियो जारी कर कहा है कि वे अकेली नहीं हैं. फेसबुक पर ABVP के खिलाफ कैंपेन चलाने के बाद गुरमेहर को ट्रोल किया गया और धमकी भी दी गई. साथ ही गुरमेहर के 2016 के वीडियो की भी काफी निंदा की गई.

आरोपों-प्रत्यारोपों की जंग के बीच दिल्ली यूनिवर्सिटी से लेकर जेएनयू तक मार्च निकाले गए. आजादी की हुंकार भरी गई, लेकिन मुखालफत के आंदोलन का चेहरा बनी गुरमोहर इससे दूर जालंधर पहुंच चुकी हैं. गुरमेहर अब कह रही हैं कि उन्हें अकेला छोड़ दिया जाए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें