scorecardresearch
 

गोरखपुर हादसा: हटाए गए प्रिंसिपल राजीव मिश्रा की पत्नी की भूमिका की जांच

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज हटाए गए प्रिंसिपल राजीव मिश्रा की पत्नी पूर्णिमा शुक्ला की भूमिका की जांच के लिए टीम रवाना हुई. आयुष मंत्रालय की तीन सदस्यीय विभागीय जांच टीम पूर्णिमा शुक्ला की भूमिका की जांच करेगा. ऐसा माना जा रहा है कि प्रिंसिपल की पत्नी पूर्णिमा शुक्ला का प्रशासनिक फैसलों में बड़ा हैसियत रखती थी.

प्रिंसिपल राजीव की पत्नी पूर्णिमा शुक्ला की भूमिका जांच के लिए टीम हुई रवाना प्रिंसिपल राजीव की पत्नी पूर्णिमा शुक्ला की भूमिका जांच के लिए टीम हुई रवाना

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज हटाए गए प्रिंसिपल राजीव मिश्रा की पत्नी पूर्णिमा शुक्ला की भूमिका की जांच के लिए टीम रवाना हुई. आयुष मंत्रालय की तीन सदस्यीय विभागीय जांच टीम पूर्णिमा शुक्ला की भूमिका की जांच करेगा. ऐसा माना जा रहा है कि प्रिंसिपल की पत्नी पूर्णिमा शुक्ला का प्रशासनिक फैसलों में बड़ा हैसियत रखती थी.

14 मार्च 2017 को यानी योगी सरकार की शपथ से महज 5 दिन पहले डॉ पूर्णिमा शुक्ला को बीआरडी मेडिकल कॉलेज से जोड़ा गया था. उन्हें शासन स्तर से और बिना तत्कालीन मुख्यमंत्री की अनुमति से जोड़ा गया. बता दें कि पूर्णिमा शुक्ला होम्योपैथिक डॉक्टर है.

बता दें कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मासूम बच्चों की मौत के बाद सूबे के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने वहां के प्रिसिंपल राजीव मिश्रा को सस्पेंड कर दिया गया था. हालांकि मिश्रा ने इसके लिए ऑक्सीजन सप्लायर कंपनी को ही दोषी ठहराया था. इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने गोरखपुर का दौरा किया था. योगी ने मासूम बच्चों की मौत के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का भी भरोसा दिलाया था.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×