scorecardresearch
 

BJP में गए विधायकों को स्पीकर से अयोग्य घोषित करवाएंगे: गोवा कांग्रेस

कांग्रेस के पास के कुल 15 विधायक थे, उनमें से 10 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए थे. 2 तिहाई से ज्यादा संख्या होने की वजह से इन विधायकों पर दल-बदल कानून लागू नहीं हो सका था.अब कांग्रेस स्पीकर से मांग कर रही है कि विधायकों को अयोग्य घोषित किया जाए.

गोवा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गिरीश चोडंकर (सोर्स- फेसबुक) गोवा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गिरीश चोडंकर (सोर्स- फेसबुक)

  • गोवा विधानसभाध्यक्ष के समक्ष कांग्रेस दाखिल करेगी याचिका

  • 10 कांग्रेस विधायक भारतीय जनता पार्टी में हो गए थे शामिल
  • 2/3 से ज्यादा थी संख्या, नहीं पड़ा दल-बदल कानून का असर

गोवा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (जीपीसीसी) के अध्यक्ष गिरीश चोडंकर ने कहा है कि गोवा कांग्रेस, गोवा के विधानसभा में उन 10 बागी विधायकों के निलंबन के लिए याचिका दायर करेगी, जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सदस्यता ली थी. कांग्रेस विधायकों के बीजेपी में शामिल होने के करीब एक महीने बाद ऐसी प्रतिक्रिया आई है.

जिस वक्त कर्नाटक कांग्रेस और जनता दल सेक्यूलर की सरकार गिरने के करीब थी, उसी वक्त कांग्रेस के 10 विधायक एक साथ बीजेपी में शामिल हो गए थे. गोवा में पहले कांग्रेस के पास संख्याबल भारतीय जनता पार्टी से ज्यादा था.

कांग्रेस के पास के कुल 15 विधायक थे, उनमें से 10 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए थे. 2 तिहाई से ज्यादा संख्या होने की वजह से इन विधायकों पर दल-बदल कानून लागू नहीं हो सका था.

गोवा में कुल 40 विधानसभा सीटें हैं. कांग्रेस के 10 बागी विधायकों के शामिल होने के बाद से विधानसभा में बीजेपी की संख्या 27 हो गई है. हालांकि बहुमत के लिए 21 विधायकों की आवश्यकता होती है. मौजूदा समय में कांग्रेस के पास 5, जीएफपी के पास 3, एनसीपी व एमजीपी का एक-एक और तीन निर्दलीय विधायक हैं.

बीजेपी को तीनों निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन मिल गया था. साल 2017 के गोवा विधानसभा चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही बहुमत से काफी दूर थे. लेकिन अब बीजेपी गोवा में बहुमत में है. जब कांग्रेस के विधायक बीजेपी में शामिल हुए थे, तब विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी पर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें