scorecardresearch
 

रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक से FICCI गदगद, मोदी सरकार से कही ये बात

फिक्की ने कहा कि घरेलू कंपनियों से रक्षा उपकरणों की खरीदारी के लिए 52000 करोड़ रुपये आवंटित करना शानदार कदम है. फिक्की के एक लंबे समय से चल रही मांग पूरी हो गई है, अब कंपनियां रक्षा क्षेत्र में अपने उत्पादन और पूंजी की योजना बना सकती हैं.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (फाटो- पीटीआई) रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (फाटो- पीटीआई)

  • केंद्र के फैसले से FICCI खुश, लंबी मांग पूरी हुई
  • 2020-21 के बजट में देशी कंपनियों के लिए 52 हजार करोड़
101 रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक लगाने के केंद्र के ऐलान से देश की शीर्ष औद्योगिक संस्था फिक्की गदगद है. फिक्की ने केंद्र के इस फैसले के लिए नरेंद्र मोदी सरकार को बधाई दी है.

केंद्र सरकार के इस फैसले से सिर्फ इसी साल देश की रक्षा कंपनियों को 52 हजार करोड़ का ऑर्डर मिल सकेगा. बता दें कि साल 2020-21 के रक्षा बजट में ही सिर्फ देशी कंपनियों से रक्षा उपकरणों की खरीदारी के लिए 52 हजार करोड़ रुपये आरक्षित हैं.

पढ़ें- राइफल से मिसाइल तक 'आत्मनिर्भर', अब भारत घर में बनाएगा ये 101 घातक हथियार

फिक्की ने ट्वीट कर कहा, "फिक्की 101 रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक के फैसले का स्वागत करता है, ये रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भर भारत की दिशा में बड़ा कदम साबित होगा."

पढ़ें- रक्षा क्षेत्र के लिए मेगा प्लान, 2025 तक निर्यात 35 हजार करोड़ करने का लक्ष्य

फिक्की ने कहा कि घरेलू कंपनियों से रक्षा उपकरणों की खरीदारी के लिए 52000 करोड़ रुपये आवंटित करना शानदार कदम है. फिक्की की एक लंबे समय से चल रही मांग पूरी हो गई है, अब कंपनियां रक्षा क्षेत्र में अपने उत्पादन और पूंजी की योजना बना सकती हैं.

बता दें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को रक्षा उत्पादन के स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए 101 रक्षा उपकरणों के आयात पर चरणबद्ध तरीके से रोक लगाने का फैसला किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें