scorecardresearch
 

कांग्रेस नेता अहमद पटेल के बेटे को ED का समन, कल पूछताछ के लिए बुलाया

स्टर्लिंग बायोटेक केस में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने फैसल पटेल को समन भेजा है. फैसल पटेल कांग्रेस नेता अहमद पटेल के बेटे हैं.

अहमद पटेल (फाइल फोटो) अहमद पटेल (फाइल फोटो)

  • प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने फैसल पटेल को समन भेजा
  • अहमद पटेल के बेटे फैसल से गुरुवार को ईडी करेगी पूछताछ
  • तीसरी बार ईडी फैसल पटेल से करेगी पूछताछ

स्टर्लिंग बायोटेक केस में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने फैसल पटेल को समन भेजा है. फैसल पटेल कांग्रेस नेता अहमद पटेल के बेटे हैं. इस मामले में फैसल पटेल को ईडी ने गुरुवार को पूछताछ के लिए बुलाया है. ये तीसरी बार होगा, जब फैसल पटेल से पूछताछ की जाएगी.

पिछले महीने इसी मामले में अहमद पटेल के दामाद इरफान सिद्दीकी से प्रवर्तन निदेशालय ने पूछताछ की थी. नई दिल्ली के ईडी कार्यालय में वडोदरा स्थित कंपनी के मालिकों और प्रमोटर्स संदेसरा भाइयों के साथ अपने कथित संबंधों के बारे में बताने के बाद सिद्दीकी का बयान पीएमएलए के तहत दर्ज किया गया था.

पेशे से वकील इरफान सिद्दीकी की शादी अहमद पटेल की बेटी मुमताज पटेल से हुई है. अहमद पटेल गुजरात से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हैं. वह यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव भी रह चुके हैं.

संदेसरा समूह के एक कर्मचारी सुनील यादव ने आरोप लगाया था कि इरफान सिद्दीकी चेतन संदेसरा (निदेशक संदेसरा समूह) के पुष्पांजलि फार्म, नई दिल्ली में आया करते थे, जबकि चेतन संदेसरा इरफान के वसंत विहार स्थित निवास पर भी जाते थे.चेतन कथित रूप से इरफान सिद्दीकी को बड़ी मात्रा में नकदी सौंपता था. सुनील ने आरोप लगाया कि अहमद पटेल के आवास का इस्तेमाल बैठकों के लिए भी किया जाता था.

सुनील ने अपने बयान में कहा कि चेतन अहमद पटेल के आवास को मुख्यालय के रूप में जिक्र करता था. चेतन और गगन धवन अहमद पटेल के आवास पर आते रहते थे. वे कम से कम 25 से 30 बार उनके आवास पर गए. चेतन और गगन धवन फोन पर महाजन (अहमद पटेल के पीए) के माध्यम से मीटिंग तय करते थे.इरफान सिद्दीकी और फैसल पटेल को कथित रूप से चेतन द्वारा कोड नाम दिए गए थे. चेतन और गगन इरफान सिद्दीकी को इरफान भाई कहते थे. इरफान को 'i2' और फैसल पटेल को 'i1' कोड नाम दिया गया था.

सुनील के मुताबिक फैसल पटेल अपने दोस्तों को पार्टी के लिए पुष्पांजलि फार्म ले जाता था और सारा खर्च चेतन ही करता था. साल 2011 में ऐसी ही एक पार्टी में चेतन ने 10 लाख रुपये खर्च किए थे. ईडी इरफान के दिल्ली के वसंत विहार आवास की भी जांच कर रही है. आरोप है कि इसे संदेसरा ने ही खरीदा. दिल्ली के व्यवसायी गगन धवन के साथ उनके संबंध भी केंद्रीय एजेंसी के जांच के दायरे में है. गगन धवन को पहले इस मामले के सिलसिले में ईडी ने गिरफ्तार किया था.

ईडी का दावा है कि इरफान सिद्दीकी और फैसल पटेल से पूछताछ की जा रही है क्योंकि एजेंसी को उनके खिलाफ नए सबूत मिले हैं.14,500 करोड़ रुपये का बैंक लोन फ्रॉड को वड़ोदरा स्थित फार्मा फर्म और उसके मुख्य प्रमोटर नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा द्वारा किया गया. ये सभी फरार हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें