scorecardresearch
 

वन रैंक वन पेंशन: 24 अगस्त से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करेंगे पूर्व सैनिक

स्वतंत्रता दिवस पर भी वन रैंक वन पेंशन (OROP) के लागू न होने से निराश पूर्व सेनाकर्मियों ने रविवार को ऐलान किया कि वह आगामी 24 अगस्त से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करेंगे.

X
वन रैंक वन पेंशन के लिए 2 महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं पूर्व सैनिक
वन रैंक वन पेंशन के लिए 2 महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं पूर्व सैनिक

स्वतंत्रता दिवस पर भी वन रैंक वन पेंशन (OROP) के लागू न होने से निराश पूर्व सेनाकर्मियों ने रविवार को ऐलान किया कि वह आगामी 24 अगस्त से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करेंगे.

2 महीने से चल रहा है प्रदर्शन
‘युनाइटेड फ्रंट ऑफ मूवमेंट ऑफ एक्स-सर्विसमैन’ के मीडिया सलाहकार रिटायर्ड कर्नल अनिल कौल ने कहा, ‘पूर्व सेनाकर्मियों का समूह आगामी 24 अगस्त से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू करेगा.’ OROP की मांग को लेकर पूर्व सैन्यकर्मियों का प्रदर्शन रविवार को 63वें दिन में प्रवेश कर गया.

PM ने दिया आश्वासन
प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से दिए अपने भाषण में OROP को लेकर कोई स्पष्ट समय सीमा का उल्लेख नहीं किया था, हालांकि उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि इसको लेकर बातचीत आखिरी चरण में है. मोदी की ओर से समय सीमा नहीं बताए जाने को लेकर पूर्व सैन्यकर्मियों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और अपने प्रदर्शन करने तेज करने का फैसला किया.

राष्ट्रपति की रिसेप्शन में नहीं पहुंचे AAP विधायक
उधर, OROP की मांग को लेकर स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रपति के एट होम रिसेप्शन में नहीं पहुंचने वाले आम आदमी पार्टी के विधायक रिटायर्ड कर्नल देविंदर सहरावत ने प्रणब मुखर्जी को पत्र लिखकर पूर्व सैनिकों की ओर से उनके हस्तक्षेप की मांग की है.

सहरावत ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र
सहरावत ने सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर राष्ट्रपति को कल भेजे पत्र में कहा, ‘मुझे भारी मन से आपको बताना पड़ रहा है कि पूर्व सैनिक सड़कों पर बदहाल हैं और पुलिस एवं नगरपालिका परिषद के अधिकारियों के हाथों अन्यायपूर्ण एवं अपमानजनक बर्ताव से गुजर रहे हैं क्योंकि वे OROP की अपनी यथोचित मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं.’ उन्होंने लिखा है, ‘मेरी धृष्टता माफ कीजिए, लेकिन वे इस मामले में आपके हस्तक्षेप की आशा करते हैं.’

पूर्व सैनिक राष्ट्रीय राजधानी के जंतर मंतर और देश के अन्य हिस्सों में ओआरओपी के तत्काल क्रियान्वयन की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें