scorecardresearch
 

DNA टेस्ट से होगी गीता के माता-पिता की पहचान, PAK ने दी भारत लौटने की इजाजत

पंद्रह साल से कराची में मां-बाप की याद में तड़प रही गीता जल्द हिंदुस्तान लौटेगी. सब कुछ ठीक रहा तो कु‍छ ही दिनों बाद गीता को मां का आंचल का सुख और पिता का दुलार नसीब होगा. विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने उसके माता-पिता की पहचान होने की ट्विटर पर खुशखबरी दी है, वहीं पाकिस्तान में कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद गीता को वतन वापसी की इजाजत मिल गई है.

X
पाकिस्तान में अपने माता-पिता की तस्वीर दिखाती गीता
पाकिस्तान में अपने माता-पिता की तस्वीर दिखाती गीता

पंद्रह साल से कराची में मां-बाप की याद में तड़प रही गीता जल्द हिंदुस्तान लौटेगी. सब कुछ ठीक रहा तो कु‍छ ही दिनों बाद गीता को मां का आंचल का सुख और पिता का दुलार नसीब होगा. विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने उसके माता-पिता की पहचान होने की ट्विटर पर खुशखबरी दी है, वहीं पाकिस्तान में कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद गीता को वतन वापसी की इजाजत मिल गई है.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा, 'गीता ने अपने माता-पिता को पहचान लिया है. उसके पास तीन तस्वीरों का सेट कराची भेजा गया था, जिसमें से एक तस्वीर को गीता ने अपने माता-पिता की तस्वीर बताया है. गीता को वापस भारत लाने की प्रक्रिया के बाद उसका डीएनए टेस्ट करवाया जाएगा. इसके बाद उसे परिवार को सौंपा जाएगा.' आजतक से बातचीत में भी गीता ने फोटो देखकर अपने परिवार को पहचाना है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने बताया कि गीता बहुत जल्द भारत लौटेगी. उन्होंने कहा, 'गीता भारतीय है और इसलिए उसे भारत लाया ही जाएगा. जहां तक उसके माता-पिता का सवाल है तो तस्वीरों की पहचान एकमात्र सबूत नहीं है. डीएनए टेस्ट के जरिए इस और माता-पिता की पहचान की जाएगी. सब कुछ सही पाए जाने पर ही गीता को उसके माता-पिता को सौंपा जाएगा.' स्वरूप ने बताया कि अगर टेस्ट में गीता के परिवार की पुष्टि‍ नहीं होती है तो इंदौर और दिल्ली में विकलांगों के लिए विशेष घर की पहचान की गई. गीता को इन्हीं में से किसी में रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि गीता जल्द भारत लौटेगी और इस ओर तारीख की घोषणा जल्द ही की जाएगी.

कौन है गीता, क्या है मामला
गौरतलब है कि सलमान खान की फिल्म 'बजरंगी भाईजान' की रिलीज के बाद पाकिस्तान में हिंदुस्तानी लड़की गीता का मामला सामने आया था. फिल्म के एक पात्र की तरह गीता भी बोल और सुन नहीं सकती. कराची के एदी फाउंडेशन के मुताबिक करीब दस साल की उम्र में गीता को बॉर्डर के पार पाकिस्तानी रेंजर्स ने पकड़ लिया था. बाद में उसे कोर्ट के आदेश पर कराची के एक NGO एदी फाउंडेशन में दाखिल करा दिया गया.

रील लाइफ की मुन्नी जैसी कहानी हकीकत में गीता की जिंदगी है. 'बजरंगी भाईजान' में सलमान जान की बाजी लगाकर मुन्नी नाम की बच्ची को भारत से वापस पाकिस्तान पहुंचाते हैं. गीता की कहानी जब खबरों में आई तब सलामन ने भी गीता से मिलने की ख्वाहिश जताई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें