scorecardresearch
 

एयर इंडिया के 130 पायलटों, 430 क्रू मेंबर्स की नौकरी पर लटकी तलवार

सूत्रों के मुताबिक कार्रवाई के लिए चिन्हित किए गए पायलट और क्रू सदस्य सिंगापुर, कुवैत, बैंकॉक, अहमदाबाद और गोवा जैसी जगहों की उड़ानों में काफी समय तक अल्कोहल जांच से बचते रहे हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) जल्द ही एयर इंडिया के 130 पायलट और 430 क्रू सदस्यों को हटा सकता है. बताया जा रहा है कि डीजीसीए उन लोगों पर कार्रवाई की तैयारी में है जो पिछले काफी समय से उड़ान से पहले और बाद के अनिवार्य अल्कोहल जांच से बचने की कोशिश करते रहे थे.

सूत्रों के मुताबिक कार्रवाई के लिए चिन्हित किए गए पायलट और क्रू सदस्य सिंगापुर, कुवैत, बैंकॉक, अहमदाबाद और गोवा जैसी जगहों की उड़ानों में काफी समय तक अल्कोहल जांच से बचते रहे हैं. उन्होंने बताया कि डीजीसीए क्रू सदस्यों द्वारा सुरक्षा मानकों के कथित उल्लंघन को लेकर पहले ही एयर इंडिया प्रबंधन को अंतिम चेतावनी दे चुका है. डीजीसीए के सुरक्षा मानकों के अनुसार, उड़ान से पहले सभी क्रू सदस्यों और पायलटों का अल्कोहल जांच से गुजरना अपरिहार्य है.

जानकारी के मुताबिक एयर इंडिया के प्रवक्ता को ई-मेल के जरिए इससे संबंधित सवाल सोमवार को भेजे गए थे लेकिन अब तक कोई भी जवाब नहीं मिला है.

सूत्र के मुताबिक डीजीसीए एयर इंडिया प्रबंधन के संज्ञान में यह बात ला चुका है कि उसके 132 पायलटों और 434 क्रू सदस्यों ने अनिवार्य अल्कोहल जांच का उल्लंघन किया है. यह सुरक्षा मानकों का उल्लंघन है और डीजीसीए इस बाबत इन क्रू सदस्यों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करेगा.

गौरतलब है कि इतने क्रू सदस्यों को एक बार में हटा देने से एयर इंडिया के सामने परिचालन में दिक्कतें आ सकती हैं. इस कारण संभवत: डीजीसीए चरणबद्ध तरीके से कार्रवाई करेगा.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें