scorecardresearch
 

कोरोना वायरस: देश के 5 हजार लोग घर के अंदर निगरानी में

कोरोना वायरस को लेकर हर जिले की स्थिति की समीक्षा और निगरानी शुरू की गई है और इसकी निगरानी में जिला कलेक्टरों को शामिल किया जा रहा है.

राज्य सरकारों को सभी प्रशासनिक इकाइयों में निगरानी राज्य सरकारों को सभी प्रशासनिक इकाइयों में निगरानी

  • अभी तक 5123 व्यक्तियों को देशभर में घर के अंदर ही निगरानी में
  • कोरोना वायरस को लेकर हर जिले की स्थिति की शुरू की गई निगरानी

कोरोना वायरस का संक्रमण देश में न फैल सके, इसके लिए पांच हजार से अधिक लोगों को उनके घर के अंदर अन्य लोगों से अलग निगरानी में रखा गया है. ये वह लोग हैं, जिन्होंने 15 जनवरी या उसके बाद चीन की यात्रा की अथवा इस दौरान चीन की यात्रा करने वाले लोगों के संपर्क में थे.

स्वास्थ्य मंत्रालय की सचिव प्रीति सूदन ने बताया, 'कोरोना वायरस की जांच के लिए कुल 741 नमूने लिए गए. इन नमूनों की जांच में 738 नमूने नेगेटिव पाए गए हैं. तीन नमूने पॉजिटिव पाए गए हैं. कोरोना वायरस से ग्रसित तीनों रोगी चीन से लौटे हैं और फिलहाल केरल में है. अभी तक 5123 व्यक्तियों को देशभर में घर के अंदर ही निगरानी में रखा गया है.'

यह भी पढ़ें- Coronavirus : चीन में कोरोना वायरस से मौत का सिलसिला जारी, 500 के करीब पहुंचा आंकड़ा

समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश की विभिन्न राज्य सरकारों से कहा है कि वह कोरोना वायरस को लेकर अपने-अपने राज्यों में जागरुकता अभियान चलाए. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन ने कहा कि जिन राज्यों में हवाईअड्डे और बंदरगाह नहीं हैं, ऐसे राज्यों में टोल प्लाजा, बसअड्डों तथा रेलवे स्टेशनों पर विशेष जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है.

उन्होंने बताया कि राज्य सरकारों को सभी प्रशासनिक इकाइयों में निगरानी और सतर्कता कार्य करने को कहा गया है. कोरोना वायरस को लेकर हर जिले की स्थिति की समीक्षा और निगरानी शुरू की गई है और इसकी निगरानी में जिला कलेक्टरों को शामिल किया जा रहा है.

टोल प्लाजा पर कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता फैलाने का काम दिल्ली के आसपास स्थित शहरों में शुरू किया जा चुका है. हरियाणा के हिसार, सिरसा समेत कई स्थानों पर टोल प्लाजा, रेलवे स्टेशन और बस अड्डों पर विशेषज्ञों ने यात्रियों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक बनाने का काम शुरू कर दिया है. इसके तहत लोगों से बात करके, उन्हें लिखित सामग्री देकर व बैनर, होर्डिग के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है.

 यह भी पढ़ें- Corona Virus से केरल में दहशत, राजकीय आपदा घोषित, सभी जिलों में अलर्ट

स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन ने कहा, 'राज्यों को अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता है. कोरोना वायरस की रोकथाम में राज्यों की भूमिका महत्वपूर्ण है.'

उन्होंने राज्यों से पर्याप्त निगरानी प्रबंधन के आवश्यक उपाय करने को कहा. हवाईअड्डों पर स्क्रीनिंग के लिए अतिरिक्त मानव शक्ति की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए कहा कि इस बारे में राज्यों को आवश्यक स्वास्थ्य कार्य बल तथा अन्य लॉजिस्टिक समर्थन एपीएचओ को देना चाहिए. नेपाल से सटे राज्यों ने बताया है कि वे आवश्यक कदम उठा रहे हैं और स्क्रीनिंग तथा प्रबंधन पर सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन कर रहे हैं.

स्वास्थ्य सचिव ने कहा, 'राज्यों में विभिन्न धार्मिक और पर्यटक स्थलों के यात्रियों की स्वयं रिपोर्टिग के लिए होटल एसोसिएशन के साथ भी तालमेल किया जा रहा है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें