scorecardresearch
 

59 दिन बाद दिल्ली लौटे राहुल गांधी, गए थे छुट्टी मनाने बैंकॉक, 'आज तक' के पास टिकट की कॉपी

59 दिनों की छुट्टी के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भारत लौट आए हैं. वह छुट्टी लेकर बैंकॉक गए थे. सू्त्रों के मुताबिक, राहुल थाई एयरवेज के विमान से दिल्ली पहुंचे. यह विमान 40 मिनट की देरी से पहुंचा.

X
Rahul Gandhi Rahul Gandhi

59 दिनों की छुट्टी के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भारत लौट आए हैं. वह छुट्टी लेकर बैंकॉक गए थे.  सूत्रों के मुताबिक, वह थाई एयरवेज के विमान से दिल्ली पहुंचे. यह विमान अपने तय समय से 40 मिनट की देरी से पहुंचा. दोपहर दो बजे के तकरीबन राहुल लंच करने दस जनपथ पहुंच गए.

राहुल 'सिल्वर ग्रे' रंग की एसयूवी में बैठकर अपने घर पहुंचे. यहां उनके स्वागत के लिए उनकी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और बहन प्रियंका गांधी समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद थे. राहुल के लौटने की खुशी में पार्टी कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल है. 'आज तक' के पास राहुल के टिकट की एक्सक्लूसिव कॉपी है. थाई एयरवेज के विमान से 'बिजनेस क्लास' के टिकट से वह 16 फरवरी को दिल्ली से बैंकॉक रवाना हुए और 16 अप्रैल की फ्लाइट से लौटे.

राहुल के टिकट की कॉपी

राहुल की वापसी से पहले ही कयास लगाए जा रहे हैं कि वह पार्टी में में अपनी भूमिका को और विस्तार दे सकते हैं. बताया जा रहा है कि शुक्रवार को राहुल किसानों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात कर सकते हैं और पार्टी की मेगा किसान रैली की तैयारियों का जायजा ले सकते हैं. उनके मीडिया को भी संबोधित करने की संभावना जताई जा रही है.

इससे पहले अपनी बेबाक टिप्पणियों के लिए मशहूर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने इशारों में ही राहुल को नसीहत तक दे डाली थी. उन्होंने कहा था कि राहुल को राजनीति में और ज्यादा दिखना चाहिए और इसे पार्ट टाइम जॉब की तरह नहीं लिया जा सकता.

अब लीड करने का समय आ गया है: दिग्विजय
लोकसभा चुनाव में हुई करारी हार पर दिग्विजय ने कहा, 'हम परसेप्शन की लड़ाई हारे. राहुल खुद को उस तरह प्रोजेक्ट नहीं कर सके, जैसे मोदी ने किया. लोकसभा चुनावों के समय उन्हें और आक्रामक होना चाहिए था. उन्हें मुद्दों पर बात करनी चाहिए, मीडिया से बात करनी चाहिए. राहुल को अब मजबूती से आना चाहिए और सभी बड़े मुद्दों पर लोगों से जुड़ना चाहिए. उन्हें कोई भी नहीं रोक रहा है, लेकिन शायद पहले वह पूरी तरह तैयार नहीं थे या वह पूर्व प्रधानमंत्री (मनमोहन सिंह) को प्रभावहीन नहीं करना चाहते थे. लेकिन अब यह संदेश देने का वक्त आ गया है कि वह ही कांग्रेस को हर तरह से लीड कर रहे हैं.' अंग्रेजी वेबसाइट 'आईबीएन लाइव' ने यह खबर दी है.

पहले यह खबर थी कि राहुल 12 या 13 अप्रैल को छुट्टी से वापस आएंगे. लेकिन अब कांग्रेस सूत्रों ने उनकी वापसी का नया शेड्यूल बताया है. अंबेडकर जयंती से जुड़ी उच्चस्तरीय बैठक में भी हिस्सा न लेकर राहुल ने अपनी वापसी के संबंध में जारी कयासों को बनाए रखा. 19 अप्रैल को कांग्रेस की किसान रैली में उनकी मौजूदगी तय मानी जा रही है.

बीते सोमवार को वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एके एंटनी राहुल की वापसी से जुड़े मीडिया के सवालों से जूझते दिखे. उन्होंने कहा, 'कितनी बार यह बात साफ करनी पड़ेगी. राहुल निश्चित रूप से 19 अप्रैल की रैली में आएंगे.'

राहुल के छुट्टी पर जाने को लेकर राजनीतिक गलियारों में तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. कुछ लोग मानते हैं कि राहुल हार का ठीकरा अपने सिर फोड़े जाने से नाराज थे और इसीलिए छुट्टी पर चले गए थे. वहीं कुछ का मानना है कि 'रिलॉन्चिंग' के मकसद से तय प्लान के तहत वह छुट्टी पर गए हैं और इस दौरान वह अपनी समझदारी, भाषण और कार्यशैली को मजबूत बना रहे हैं. कुछ लोग उनके बहुत जल्दी कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभालने की भविष्यवाणी भी कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें