scorecardresearch
 

कर्नाटक के कांग्रेस नेताओं से 13 जनवरी को मिलेंगे राहुल, राज्य की चुनावी रणनीति पर होगी मंत्रणा

सूत्रों के मुताबिक बैठक में ऐसे प्रस्तावों पर विस्तार से चर्चा की जाएगी. जिससे कर्नाटक में लोगों से अधिक से अधिक जुड़ने के कार्यक्रम शुरू किए जा सकें. बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कर्नाटक की जमीनी स्थिति को लेकर भी राहुल गांधी के साथ विमर्श करेंगे.

राहुल गांधी (फाइल फोटो) राहुल गांधी (फाइल फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कर्नाटक कांग्रेस के नेताओं से 13 जनवरी को दिल्ली में मुलाकात करेंगे. कर्नाटक में शीघ्र ही विधानसभा चुनाव होने हैं. राहुल प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के साथ संभवत: राज्य के लिए चुनावी रणनीति तैयार करने के लिए मशविरा करेंगे.

सूत्रों के मुताबिक बैठक में ऐसे प्रस्तावों पर विस्तार से चर्चा की जाएगी. जिससे कर्नाटक में लोगों से अधिक से अधिक जुड़ने के कार्यक्रम शुरू किए जा सकें. बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कर्नाटक की जमीनी स्थिति को लेकर भी राहुल गांधी के साथ विमर्श करेंगे. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी को राज्य पर विस्तृत 360 डिग्री प्लान सौंपने के लिए कहा गया है. बता दें कि कांग्रेस की कर्नाटक यूनिट की ओर से पहले ही पार्टी के नवनियुक्त अध्यक्ष राहुल गांधी से इस दक्षिणी राज्य के लिए प्रचार अभियान शुरू करने का आग्रह किया जा चुका है.

कर्नाटक के लिए कांग्रेस के प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि हम राहुल जी से कर्नाटक के लिए कैम्पेन शुरू करने का आग्रह पहले ही कर चुके हैं. वे भी इस पर सहमत हैं. संभावना है कि वे 20 जनवरी के बाद राज्य के लिए प्रचार अभियान शुरू करेंगे.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया प्रदेश में 120 कांग्रेस विधायकों के निर्वाचन क्षेत्रों में जनसंपर्क कार्यक्रम को पहले ही पूरा कर चुके हैं. राज्य के अन्य निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी के दूसरे वरिष्ठ नेता दौरे कर रहे हैं. कांग्रेस की राज्य इकाई चाहती है कि पार्टी के प्रचार अभियान की कमान राहुल गांधी खुद अपने हाथ में रखें. 20 जनवरी के बाद केंद्र से कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेता कर्नाटक पहुंचना शुरू हो जाएंगे.   

इस बीच, पार्टी के कर्नाटक सचिव और पूर्व सांसद मधु गौड यक्षी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहरीन दौरे का समन्वय देख रहे हैं.  बता दें कि खाड़ी के देशों में दक्षिण भारत से बड़ी संख्या में रोजगार के लिए गए हैं. राहुल के बहरीन दौरे को कर्नाटक से गए प्रवासी भारतीयों को लुभाने के तौर पर देखा जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें