scorecardresearch
 

कांग्रेस सांसदों के साथ सोनिया गांधी की बैठक, संसद में सरकार को घेरने पर चर्चा

कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी बुधवार को पार्टी के सांसदों के साथ बैठक कर रही हैं. कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी की सांसदों के साथ ये बैठक संसद परिसर में पार्टी के दफ्तर में हो रही है. सदन में अपनी रणनीति तैयार करने के लिए सोनिया गांधी सांसदों के साथ ये बैठक कर रही हैं.

यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी (फोटो-एएनआई) यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी (फोटो-एएनआई)

कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी बुधवार को पार्टी के सांसदों के साथ बैठक कर रही हैं. कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी की सांसदों के साथ ये बैठक संसद परिसर में पार्टी के दफ्तर में हो रही है. सदन में अपनी रणनीति तैयार करने के लिए सोनिया गांधी सांसदों के साथ ये बैठक कर रही हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयान और सत्र में सरकार की मनमानी पर भी बैठक में चर्चा हो सकती है.

मंगलवार को पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सूचना के अधिकार (आरटीआई) कानून 2005 में संशोधन को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा था. सोनिया गांधी ने कहा था कि मोदी सरकार आरटीआई कानून को रुकावट के तौर पर देखती है और मुख्य सूचना आयोग की स्वतंत्रता खत्म करना चाहती है. सोनिया गांधी ने एक बयान में कहा, 'यह चिंता की बात है कि केंद्र सरकार ऐतिहासिक आरटीआई एक्ट 2005 को कमजोर करना चाहती है, जिसे व्यापक विचार-विमर्श के बाद तैयार कर संसद में सर्वसम्मति से पारित किया गया. अब यह एक्ट विलुप्त होने की कगार पर पहुंच गया है.'

आरटीआई (संशोधित) बिल 2019 को शुक्रवार को पेश किए जाने के तीन दिन बाद लोकसभा में पास कर दिया गया. आरटीआई (संशोधन) बिल 2019 राज्यों और केंद्र में लैंडमार्क पारदर्शिता कानून और बाद में सूचना आयुक्तों (आईसीएस) के वेतन और कार्यकाल संरचनाओं में बदलाव करना चाहता है. लोकसभा में पास होने के बाद अब इसे राज्यसभा की मंजूरी लेनी होगी.

गौरतलब है कि संसद का मौजूदा सत्र 10 दिन और चलेगा. संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने मंगलवार को कहा कि विधायी कार्यों और सरकार के कम से कम 35 विधायकों को पारित करने के टारगेट को पूरा करने के लिए ऐसा किया जाएगा. बैठकों में विस्तार के साथ सत्र अब 9 अगस्त को खत्म होगा. 17वीं लोकसभा का पहला सत्र 17 जून को शुरू हुआ था. इसकी शुरुआत सदस्यों के शपथ ग्रहण से हुई और इसका समापन 26 जुलाई को तय था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें