scorecardresearch
 

सोनिया का SPG प्रमुख को धन्यवाद, कहा- सबसे सुरक्षित हाथों में थी हमारी सेक्युरिटी

अपनी चिट्ठी में सोनिया ने लिखा है कि जबसे हमारी सुरक्षा एसपीजी के हाथों में आई मैं और मेरे परिवार को इस बात का पूरा विश्वास हो गया कि हमारी सुरक्षा सबसे बेहतर हाथों में है. पिछले 28 सालों में प्रत्येक दिन जिस तरह एसपीजी ने हमारी सुरक्षा की उससे हमने आपका उच्च पेशेवर रवैया और कर्तव्य के प्रति निष्ठा को महसूस किया.

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (फोटो: पीटीआई) कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (फोटो: पीटीआई)

  • गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाई गई
  • एसपीजी की जगह अब मिलेगी Z+ सुरक्षा

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एसपीजी प्रमुख अरुण सिन्हा को एक चिट्ठी लिखी है. सोनिया ने अपनी चिट्ठी में अब तक की सुरक्षा के लिए आभार जताते हुए लिखा है कि वे पूरे परिवार की ओर से एसपीजी का धन्यवाद देती हैं. उन्होंने चिट्ठी में आगे लिखा है कि जिस तरह से एसपीजी ने समर्पण व व्यक्तिगत तरीके से उनकी देखभाल की उसकी वे गहरी प्रशंसा करती हैं और धन्यवाद व्यक्त करती हैं.

अपनी चिट्ठी में सोनिया ने लिखा है कि जबसे हमारी सुरक्षा एसपीजी के हाथों में आई मैं और मेरे परिवार को इस बात का पूरा विश्वास हो गया कि हमारी सुरक्षा सबसे बेहतर हाथों में है. पिछले 28 सालों में प्रत्येक दिन जिस तरह एसपीजी ने हमारी सुरक्षा की उससे हमने आपका उच्च पेशेवर रवैया और कर्तव्य के प्रति निष्ठा को महसूस किया.

सोनिया ने आगे लिखा है कि एसपीजी एक असाधारण फोर्स है. इसके सदस्य हर दिए गए टॉस्क के प्रति पूरी निष्ठा और देशप्रेम के साथ काम करते हैं. अंत में उन्होंने सभी को धन्यवाद देते हुए आगे की लिए शुभकामनाएं भी दी हैं.

गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटी

मोदी सरकार ने शुक्रवार को गांधी परिवार की सुरक्षा कम करने का फैसला लिया था . जिसके तहत उनको मिला SPG सुरक्षा घेरा हटा कर एसपीजी की जगह Z+ सुरक्षा दी गई है. बताया जा रहा है कि यह निर्णय सभी सुरक्षा एजेंसियों से मिले इनपुट्स के आधार पर लिया गया है. सूत्रों के मुताबिक पिछले कुछ समय में गांधी फैमिली पर किसी तरह के हमले की कोई धमकी या उसकी आशंका नहीं थी इसी वजह से सरकार की तरफ से सुरक्षा कम करने का फैसला लिया गया.

इस वजह से लिया गया फैसला

सूत्रों के मुताबिक गांधी परिवार की ओर से 30 से ज्यादा यात्राओं के बारे में एसपीजी के साथ सही तरीके से जानकारी नहीं शेयर की जा रही थी. बताया जा रहा है कि ये यात्राएं पिछले पांच साल के दौरान हुई थीं. इस यात्रा के दौरान कोई अप्रिय घटना की जानकारी भी एसपीजी को नहीं मिली थी . इसके अलावा अन्य तथ्यों के आधार पर बनाई गई रिपोर्ट का आला अधिकारियों के सामने जिक्र हुआ जिसके बाद यह फैसला लिया गया.

कांग्रेस ने बताया साजिश

कांग्रेस ने मोदी सरकार के इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे एक साजिश करार दिया है. कांग्रेस का कहना है कि इस फैसले के पीछे आरएसएस की मंशा काम कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें