scorecardresearch
 

14 दिसंबर को कांग्रेस की भारत बचाओ रैली, केंद्र सरकार को घेरने की तैयारी

महंगाई, बेरोजगारी, मंदी और किसानों की समस्या को लेकर कांग्रेस दिल्ली के रामलीला मैदान में 14 दिसंबर को एक बड़ी रैली करने जा रही है.

राहुल गांधी (तस्वीर- रॉयटर्स) राहुल गांधी (तस्वीर- रॉयटर्स)

  • नागरिक संशोधन कानून पर मोदी सरकार को घेरेगी कांग्रेस
  • दिल्ली के रामलीला मैदान में होगा कांग्रेस नेताओं का जमावड़ा

महंगाई, बेरोजगारी, मंदी और किसानों की समस्या को लेकर कांग्रेस दिल्ली के रामलीला मैदान में 14 दिसंबर को एक बड़ी रैली करने जा रही है. इस रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री व कार्यकर्ता शामिल होंगे.

कांग्रेस की इस रैली में नागरिक संशोधन कानून का मुद्दा भी शामिल हो गया है. कांग्रेस ने संसद के दोनों सदनों में इस बिल का विरोध किया है और कहा कि इस कानून के द्वारा धर्म के आधार पर देश को बांटने की कोशिश की गई है. बता दें कि खुद सोनिया गांधी ने इस कानून के संसद से पास होने पर उसे इतिहास का काला दिन बताया था.

14 दिसंबर को भारत बचाओ रैली

14 दिसंबर को होने वाली भारत बचाओ रैली को लेकर कांग्रेस ने देश भर से तमाम लोगों को रामलीला मैदान पहुंचने का आह्वान किया है. कांग्रेस का दावा है कि यह रैली ऐतिहासिक होगी. कांग्रेस ने कहा कि केंद्र सरकार असली मुद्दों से देश की जनता का ध्यान भटकाने में लगी है. लेकिन वो इन तमाम मुद्दों को लेकर देश में जनता के बीच जाएगी.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला का कहना है कि देश में इस वक्त मंदी की मार है, बेरोजगारी चरम सीमा पर है, महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है और किसानों की स्थिति बहुत खराब है लेकिन केंद्र सरकार इस दिशा में कोई भी कदम नहीं उठा रही है. सरकार पूरी तरीके से असफल है. सुरजेवाला का कहना है कि जनता केंद्र सरकार की नीतियों से परेशान है, अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है, जीडीपी गिरती जा रही है और देश बदलाव के मूड में है.

सुरजेवाला ने कहा कि भारत बचाओ रैली के माध्यम से हम केंद्र सरकार को चेताना चाहते हैं कि वह असली मुद्दों से जनता का ध्यान ना भटकाए और इस दिशा में कुछ कदम उठाए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें