scorecardresearch
 

DSP देवेंद्र सिंह को लेकर कांग्रेस का सवाल, पूछा- सरकार क्यों देती रही सम्मान

कश्मीर में आतंकियों के साथ पकड़े गए डीएसपी (निष्कासित) को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. गुरुवार को कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया कि आतंकी हमलों में देवेंद्र सिंह की संदिग्ध भूमिका सामने आई है. इसके बावजूद भी उसे शह मिलती रही.

देवेंद्र सिंह (फाइल फोटो) देवेंद्र सिंह (फाइल फोटो)

  • आतंकी हमलों में देवेंद्र सिंह की संदिग्ध भूमिका
  • कांग्रेस ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

कश्मीर में आतंकियों के साथ पकड़े गए डीएसपी (निष्कासित) को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. गुरुवार को कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया कि आतंकी हमलों में देवेंद्र सिंह की संदिग्ध भूमिका सामने आई है. इसके बावजूद भी उसे शह मिलती रही.

यह भी पढ़ें: DSP देवेंद्र सिंह से छीना जाएगा शेर-ए-कश्मीर मेडल, सरकार ने दिए आदेश

देवेंद्र सिंह को लेकर कांग्रेस ने ट्वीट किया है, 'आतंकी हमलों में देवेंद्र सिंह की संदिग्ध भूमिका सामने आई है. बावजूद इसके किसकी शह पर उसे सम्मान मिलता रहा. बड़ी जिम्मेदारियां मिलती रही. या तो बीजेपी सरकार का सूचना तंत्र विफल था या फिर देवेंद्र सिंह के पीछे मजबूत सहारा था! देश इन सवालों के जवाब जानना चाहेगा.'

बता दें कि 1990 के दशक में देवेंद्र सिंह ने 10 साल तक स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) के साथ काम किया. इस दौरान उसे काफी सम्मान मिला. देवेंद्र सिंह को उसके काम के लिए आउट ऑफ टर्न प्रमोशन दिया गया था और उसे इंस्पेक्टर बना दिया गया. आतंकियों के खिलाफ ऐसे ही एक ऑपरेशन के दौरान बड़गाम में देवेंद्र सिंह घायल हो गया था.

मेडल वापस लेने का आदेश

वहीं जम्मू-कश्मीर सरकार ने आतंकवादियों से साठगांठ के आरोप में गिरफ्तार डीएसपी देवेंद्र सिंह से शेर-ए-कश्मीर पुलिस मेडल को वापस लेने के आदेश दिए हैं. राज्य की तरफ से उन्हें शौर्य के लिए शेर-ए-कश्मीर पुलिस मेडल प्रदान किया गया था. लेकिन, अब उनके आतंकवादियों से जुड़े होने की बात सामने आने के बाद राज्य सरकार ने यह पुरस्कार वापस लेने के आदेश जारी किए हैं. वहीं जम्मू-कश्मीर राज्य की ओर से 2018 में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उसकी सेवा के दौरान वीरता पदक से देवेंद्र को सम्मानित किया गया था.

कश्मीर में डीएसपी साथ पकड़े गए आतंकियों की बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक ये आतंकी पाकिस्तान में भारत के सर्जिकल स्ट्राइक से बौखलाए हुए थे और पंजाब, दिल्ली, चंडीगढ़ में आतंकी हमले की साजिश रच रहे थे. इसके अलावा देवेंद्र सिंह के घर पर हुई छापेमारी में सेना के 15 मैप और 7.5 लाख रुपये भी बरामद हुए हैं. सुरक्षा एजेंसियों को डर है कि हिजबुल के आतंकियों ने अपने पाक हैंडलर्स के साथ यह नक्शा साझा किया होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें