scorecardresearch
 

चीन-पाक के गठजोड़ का पर्दाफाश! चीन की मदद से पाक लगा रहा है बॉर्डर पर सर्विलांस सिस्टम

पाकिस्तान और चीन की चालबाजी का एक बार फिर बड़ा खुलासा हुआ है. आज तक को मिली खुफिया रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है कि चीन इंटरनेशनल बॉर्डर के उस पार राजस्थान के बीकानेर के समीप पाकिस्तान के अंदर बॉर्डर आउटपोस्ट पर नए-नए सर्विलांस सिस्टम लगा रहा है.

चीन और पाकिस्तान का राष्ट्रीय झंडा चीन और पाकिस्तान का राष्ट्रीय झंडा

पाकिस्तान और चीन की चालबाजी का एक बार फिर बड़ा खुलासा हुआ है. आज तक को मिली खुफिया रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है कि चीन इंटरनेशनल बॉर्डर के उस पार राजस्थान के बीकानेर के समीप पाकिस्तान के अंदर बॉर्डर आउटपोस्ट पर नए-नए सर्विलांस सिस्टम लगा रहा है.

खुफिया रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है कि बीकानेर के पास सीमा के उस पार नई तकनीक का बॉर्डर आउटपोस्ट पाकिस्तान जन्नत गुल इलाके में बना रहा है, जिसमें 4 से 5 चीनी टेक्नोक्रेट देखे गए हैं. ये वहां पर सर्विलांस सिस्टम फिट करने में लगे हुए हैं. सूत्रों के मुताबिक भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने इस बारे में BSF को यह जिम्मा सौंपा है कि इसके बारे में वह विस्तृत जानकारी हासिल कर सरकार को पूरी जानकारी शेयर करें.

पाक के कंधे पर बंदूक रख भारत पर निशाना साध रहा चीन

चीन सिर्फ पाकिस्तान के साथ मिलकर बीकानेर इलाके के सीमा पार चालबाजी नहीं चल रहा है, बल्कि चालबाज चीन राजस्थान के जैसलमेर में पाक आर्मी को सर्विलांस इक्विपमेंट से मजबूत कर रहा है. खुफ़िया सूत्रों के मुताबिक जैसलमेर बॉर्डर एरिया में 16 टायरा बड़े वेहिकल में पाक आर्मी ये सर्विलांस सिस्टम को लगा रहा था.

हालांकि सर्विलांस सिस्टम से लदा ये ट्रक जब सीमा के उस पार मूवमेंट कर रहा था, तब वो सैंड में फंस भी गया. आजतक को मिली exclusive जानकारी के मुताबिक पाक सर्विलांस इक्विपमेंट no ..UC. 8451****0/G-NOM को जैसलमेर वाले इलाके में सीमा पार पाकिस्तानी आर्मी, पाक रेंजर्स की मदद से लगा रहे है. 16 टायरों वाले ट्रक में इस सर्विलांस इक्विपमेंट को लादकर बॉर्डर एरिया में पहुंचाया गया है.

LOC के पार भी चीन की मदद से सर्विलांस सिस्टम

इससे पहले भी लाइन ऑफ कंट्रोल के राजौरी सेक्टर में सरहद के उस पार चीन और पाक की चाल का खुलासा आजतक ने किया था. चीन-पाक आर्मी के साथ मिलकर लाइन ऑफ कंट्रोल के उस पार (राजौरी सेक्टर) में सीमा पार कब्रिस्तान जियारत टॉप के पास पाकिस्तान आर्मी को जहां चीन के हथियारों की ट्रेनिंग देकर उसको मजबूत कर रहा है. वहीं इसी इलाके में चीन बड़े-बड़े सर्विलांस सिस्टम को लगाकर पाकिस्तान आर्मी को ट्रेनिंग दे रहा था. ड्रैगन का साफ मकसद दिलोजान से पाकिस्तान को सर्विलांस सिस्टम और चाईनिज हथियारों से लैस करने का दिख रहा है.

आजतक के पास वो रिपोर्ट मौजूद है, जिसमें पिछले साल अक्टूबर के महीने में सरकार को दी गई बीएसएफ की रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ था कि चीन किस तरीके से पाक सेना को पाक FDLs (फॉरवर्ड डिफेंडेड लोकैलिटी) कब्रिस्तान जियारत टॉप और पाक FDLs 26 Chalira की जगहों पर चीनी हथियार चलाना सिखा रहा है. यही नहीं, इसी इलाके में चीन की PLA (पीपुल्स लिबरेशन आर्मी) surveillance equipment की भी ट्रेनिंग पाक आर्मी को दे रही है. ये पूरा एरिया भारत के राजौरी सेक्टर के उस पार पड़ता है.

चीन चाहे जितनी पाक के कंधे पर बन्दूक रख ले, भारत इन खतरों से डरने वाला नहीं है. भरत इन चुनौतियों को 62 के युद्ध के बाद से लगातार देख रहा है. हाल ही में आजतक ने ये खुलासा किया था कि चीन की ओर से भारत चीन सीमा के लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर महज सवा महीने में 50 से ज्यादा बार घुसपैठ हुई थी. हालांकि भारतीय सेना के विरोध के बाद चीनी सैनिकों की बोलती बंद हो गई और उनको वापस लौटना पड़ा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें