scorecardresearch
 

PPP मॉडल के तहत 6 एयरपोर्ट के प्रबंधन के प्रस्ताव को मंजूरी

पीपीपीएसी के अधिकार क्षेत्र के बाहर किसी मुद्दे का निपटान सचिवों के अधिकार प्राप्त समूह द्वारा किया जाएगा.

रविशंकर प्रसाद (तस्वीर- PTI) रविशंकर प्रसाद (तस्वीर- PTI)

केंद्र सरकार के मंत्रिमंडल ने अहमदाबाद, जयपुर, लखनऊ और तीन अन्य हवाई अड्डों का प्रबंधन सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) के तहत करने के प्रस्ताव को बृहस्पतिवार को मंजूरी दे दी है.

इनमें गुवाहाटी, तिरुवनंतपुरम और मेंगलुरु के हवाई अड्डे भी शामिल हैं. एक आधिकारिक ट्वीट में कहा गया है कि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के स्वामित्व वाले इन हवाई अड्डों का प्रबंधन पीपीपी के तहत किया जाएगा.

सार्वजनिक निजी भागीदारी मूल्यांकन समिति (पीपीएसी) प्रबंधन का काम करेगी. ट्वीट में कहा गया है कि पीपीपीएसी के अधिकार क्षेत्र के बाहर किसी मुद्दे का निपटान सचिवों के अधिकार प्राप्त समूह द्वारा किया जाएगा.

नीति आयोग के सीईओ इस समूह की अगुवाई करेंगे. इसके अलावा नागर विमानन मंत्रालय, आर्थिक मामलों के विभाग, व्यय विभाग के सचिव इस समूह में शामिल होंगे.

आन्ध्र में केन्द्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की स्थापना को मंजूरी दी

मंत्रिमंडल ने गुरूवार को आन्ध्र प्रदेश में एक केन्द्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की स्थापना को मंजूरी दे दी. एक बयान में कहा गया कि आन्ध्र प्रदेश केन्द्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की स्थापना विजयनगरम जिले के रेल्ली गांव में की जाएगी. आन्ध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम, 2014 की 13वीं अनुसूची में इसका उल्लेख है. मंत्रिमंडल ने केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की स्थापना के पहले चरण के खर्चे के लिए 420 करोड़ रुपये की धनराशि को भी मंजूरी दी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें