scorecardresearch
 

रद्द पासपोर्ट से यात्रा, नीरव मोदी के खिलाफ एक और FIR की तैयारी में CBI

गत 12 जून को ही नीरव मोदी ने भारतीय पासपोर्ट पर यात्रा की है. इसके अलावा नीरव मोदी सिंगापुर में रेजीडेंसी हासिल करने की भी कोशिश कर रहा है.

हाल में ही नीरव मोदी ने भारतीय पासपोर्ट पर की थी यात्रा हाल में ही नीरव मोदी ने भारतीय पासपोर्ट पर की थी यात्रा

रद्द पासपोर्ट पर नीरव मोदी द्वारा यात्रा करने की खबर आने के बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) उसके खिलाफ FIR करने की तैयारी कर रही है.

एक खबर के अनुसार, अभी गत 12 जून को ही नीरव मोदी ने भारतीय पासपोर्ट पर यात्रा की है. इसके अलावा नीरव मोदी सिंगापुर में रेजीडेंसी हासिल करने की भी कोशिश कर रहा है.

गौरतलब है कि करीब 13 हजार करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले के मामले में सीबीआई ने नीरव मोदी और कई अन्य के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया है. इसके बाद सीबीआई ने इंटरपोल से रेडकॉर्नर नोटिस जारी करने का अनुरोध किया है. हालांकि अभी इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस को नोटिफाई नहीं किया है. इसलिए नीरव मोदी आसानी से यात्रा कर पा रहा है.

पिछले हफ्ते लंदन में दिखा नीरव

सीबीआई इस बात का पता लगाने की भी कोशिश कर रही है कि नीरव मोदी को किसी और देश से तो पासपोर्ट जारी नहीं किया गया. सूत्रों का कहना है कि नीरव मोदी को पिछले हफ्ते लंदन में देखा गया था. उसने अपने रद्द पासपोर्ट पर ही पिछले हफ्ते लंदन की यात्रा की.

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के अनुसार, नीरव मोदी गत 12 जून को ही भारतीय पासपोर्ट पर यूरोस्टार हाईस्पीड ट्रेन में लंदन से ब्रसल्स गया. भारतीय अधिकारियों को यूरोपीय इमिग्रेशन अधिकारियों से इसकी जानकारी मिली है.

सीबीआई ने गत 24 फरवरी को ही नीरव मोदी का पासपोर्ट रद्द कर दिया था. इसी महीने सीबीआई ने इंटरपोल के पास रेड कॉर्नर नोटिस के लिए अनुरोध भेजा है. इसके पहले भी सीबीआई ने रेड कॉर्नर नोटिस के लिए अनुरोध भेजे थे, लेकिन चार्जशीट न होने की वजह से उसे इसमें सफलता नहीं मिली.

सिंगापुर में बसने की कोशिश

अखबार के अनुसार, नीरव मोदी सिंगापुर में परमानेंट रेजीडेंसी (SPR) हासिल करने की कोशिश कर रहा है. भारत से भागने के बाद ही उसने इसके लिए आवेदन कर दिया था. वह सिंगापुर का पासपोर्ट भी हासिल करना चाहता है. उसने आवेदन में अपने को कारोबारी और मासिक आय करीब 75 लाख रुपये बताया है.

गौरतलब है कि नीरव मोदी इस साल जनवरी के पहले हफ्ते में ही देश छोड़कर भाग गया था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें