scorecardresearch
 

इजरायली ड्रोन से LoC की निगरानी, हाफिज के मूवमेंट पर भी नजर

आपको बता दें कि यह इज़रायल के ड्रोन हैं, जिसे बीएसएफ ने खरीदा है. बीएसएफ़ ने इजरायल से 11 नए तकनीक वाले ड्रोन खरीदे हैं. इन्हीं इजरायली ड्रोनों से आतंकियों के घुसपैठ पर निगरानी की जा रही है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

जम्मू कश्मीर के इंटरनैशनल बॉर्डर से घुसपैठ के खतरे से निपटने के लिए बीएसएफ ने बड़ा प्लान तैयार किया है. बीएसएफ सूत्रों के हवाले से ख़बर है कि पाकिस्तान की तरफ से जम्मू कश्मीर में घुसपैठ के खतरों को देखते हुए संवेदनशील इलाकों में बीएसएफ ने ड्रोन को निगरानी के लिए तैनात किया है.  यही नहीं इन ड्रोनों से सीमा से सटे लॉन्च‍िंग पैडों में आतंकी हाफि‍ज सईद की मूवमेंट पर भी नजर रखी जा रही है. बीएसएफ ने साम्बा सेक्टर के इलाके में 3 ड्रोन घुसपैठ पर नज़र रखने के लिए लगाया है.

आपको बता दें कि यह इज़रायल के ड्रोन हैं, जिसे बीएसएफ ने खरीदा है. बीएसएफ़ ने इजरायल से 11 नए तकनीक वाले ड्रोन खरीदे हैं. इन्हीं इजरायली ड्रोनों से आतंकियों के घुसपैठ पर निगरानी की जा रही है.

सूत्रों के हवाले से खबर है कि 3 ड्रोन "चोर गली" के पास निगरानी करने के लिए लगाया गया. सूत्रों के मुताबिक़ जम्मू में चोर गली और सांबा सेक्टर के उस पार पाकिस्तान में लॉंचिंग पैड मौजूद हैं. जहां से आतंकी घुसपैठ की बड़ी आशंका रहती है. पाकिस्तान की सीमा के उस पार मौजूद लॉंचिंग पैड मसरूर बड़ा भाई और उसके आसपास सुकमल, चपराल और लूनी में भी आतंकियो की मूवमेंट देखी गई है. वहीं पाक ख़ुफ़िया एजेंसी हाफिज़ सईद के पाकिस्तान में रिहा होने के बाद बंद पड़े इंटरनेशनल बॉर्डर के लॉंचिंग पैड को सक्रिय करने में जुटी है.

जम्मू के 11 छोटे -बड़े नाले और 3 नदियों के इलाके में ये इजरायल के ड्रोन बीएसएफ़ ने तैनात किये हैं. बीएसएफ़ सूत्रों के मुताबिक़ सांबा सेक्टर के चिल्यारी गांव की दूसरी तरफ पाकिस्तान की सीमा में 20 से 25 लोगों की संदिग्ध मूवमेंट देखी गई है. सीमा पार हाफिज़ सईद इस इलाके में अपनी नज़रबंदी से पहले आता रहा है.

भारत के सांबा सेक्टर से लगे सीमा पार पाकिस्तान के शकरगढ़ इलाक़े में हाफिज़ की मूवमेंट 2015 में कई बार देखी गई थी. जहां के लॉंचिंग पैड में हाफिज़ सईद LeT के आतंकियों को घुसपैठ के लिए ब्रेनवाश करता था. इस बार फिर हाफिज़ सईद के मूवमेंट और घुसपैठ की आशंका के बीच बीएसएफ इन इलाक़ों की निगरानी ड्रोन से कर रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें