scorecardresearch
 

'मुन्नाभाई' की झलक पाने के लिए धक्कामुक्की

अभिनेता संजय दत्त के मुंबई के गुरुवार को बांद्रा स्थित अपने बंगले के बाहर ही वहां जमा फोटोग्राफरों में धक्कामुक्की शुरू हो गई जबकि बंगले के बाहर जमा लोगों की भीड़ दत्त की एक झलक पाने के लिए बेकरार नजर आई.

अभिनेता संजय दत्त के मुंबई के गुरुवार को बांद्रा स्थित अपने बंगले के बाहर ही वहां जमा फोटोग्राफरों में धक्कामुक्की शुरू हो गई जबकि बंगले के बाहर जमा लोगों की भीड़ दत्त की एक झलक पाने के लिए बेकरार नजर आई. वर्ष 1993 के मुंबई बम धमाकों में अपनी कथित भूमिका के लिए बाकी की सजा काटने जेल जाते संजय दत्त के चेहरे पर परेशानी साफ झलक रही थी.

शस्त्र कानून के तहत अवैध हथियार रखने के दोषी पाए गए दत्त के साथ फिल्म बिरादरी के कई नामचीन चेहरे उनका मनोबल बढ़ाने के लिए साथ खड़े नजर आए.

गुरुवार को आत्मसमर्पण के लिए अदालत जाने से पहले दत्त ने परिवार के साथ सुबह घर पर पूजा और हवन में हिस्सा लिया. बॉलीवुड हस्तियों का उनके बंगले पर सुबह से ही आना जाना लगा रहा जबकि बंगले के बाहर सुबह से ही उनके प्रशंसकों की भीड़ देखी गई.

सफेद कुर्ता पहने और माथे पर तिलक लगाए दत्त ने पत्नी मान्यता दत्त के साथ कार में बैठने से पहले मीडिया और प्रशंसकों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया.

गुरुवार को अदालत में आत्मसमर्पण की संभावना को देखते हुए बुधवार की रात से ही दत्त को शुभचिंतकों के फोन लगातार आने लगे थे जबकि घर पर मिलने आने वालों का भी तांता लगा रहा. गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय ने एक सप्ताह पहले दत्त की जेल जाने के लिए अतिरिक्त मोहलत की याचिका को खारिज कर दिया था. दत्त को मार्च 1993 के मुंबई बम धमाकों में भूमिका के लिए पांच साल की जेल हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें