scorecardresearch
 

अमित शाह बोले-NRC का मुद्दा BJP का नहीं बल्कि देश की सुरक्षा का मसला है

अमित शाह का कहना है कि पश्चिम बंगाल में भाजपा का आधार तैयार हो चुका है, और जब जनता परिवर्तन लाना चाहती है तो उसको कोई नहीं रोक सकता है.

X
असम के एनआरसी पर विवाद असम के एनआरसी पर विवाद

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को देश की सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा बताया है. आजतक से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि एनआरसी और घुसपैठियों का मुद्दा भाजपा का एजेंडा नहीं है, बल्कि यह देश की सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा है. देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करना भाजपा का एजेंडा नहीं हो सकता है.

शाह ने कहा कि एनआरसी सवा सौ करोड़ देशवासियों और सुरक्षा का एजेंडा है. इस दौरान कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इतने समय तक आखिर क्यों नहीं घुसपैठियों को चिन्हित किया? अमित शाह ने कहा, 'हमने घुसपैठियों को चिन्हित करने का साहस दिखाया और इनको वापस भेजने के लिए भी कदम उठाया जाएगा.' उन्होंने यह भी दावा किया कि एनआरसी में किसी भी भारतीय का नाम नहीं छूटेगा.

अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भाजपा की भूमिका बन चुकी है और जब जनता परिवर्तन लाना चाहती है तो उसको कोई नहीं रोक सकता है. इस दौरान उन्होंने कहा कि बंगाल में हम 22 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेंगे. उन्होंने दावा किया कि भाजपा आगामी चुनाव में टीएमसी को पछाड़ देगी. उन्होंने कहा कि बंगाल भाजपा के पास पैसा नहीं है, तो ममता बनर्जी पोस्टर लगवाकर हमारा प्रचार कर रही हैं और उम्मीद है कि मेरी रैली में ज्यादा से ज्यादा लोग जुटेंगे.

मोदी सरकार के कामकाज पर अमित शाह ने कहा, 'हमने करीब 22 करोड़ परिवारों के जीवन स्तर को सुधारने के लिए काम किया है. 60 करोड़ लोगों के जीवन स्तर में परिवर्तन आया है. मुझे लगता है कि इन परिवारों के अच्छे दिन आए हैं.' शाह ने कहा कि भाजपा ने जमीनी स्तर से परिवर्तन करने का काम किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें