scorecardresearch
 

सोनिया कैबिनेट अलग, मनमोहन कैबिनेट अलगः बीजेपी

नरेंद्र मोदी को बीजेपी की चुनावी कमान मिलना तय दिख रहा है. इसकी ओर सीधा इशारा किया पार्टी के नेता शाहनवाज हुसैन ने.

शाहनवाज हुसैन शाहनवाज हुसैन

नरेंद्र मोदी को बीजेपी की चुनावी कमान मिलना तय दिख रहा है. इसकी ओर सीधा इशारा किया पार्टी के नेता शाहनवाज हुसैन ने.

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के आखिरी दिन पार्टी का राजनीतिक प्रस्ताव पास होने के बाद जब शहनवाज हुसैन मीडिया से मुखातिब हुए तो मोदी के सवाल पर उन्होंने कहा, 'आज देश को जवाब मिल जाएगा. देश के लोगों की अपेक्षा की उपेक्षा नहीं की जाएगी.'

उनका इशारा साफ था. मोदी ही कमान संभालेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि इसकी घोषणा के लिए चंद मिनटों का ही इंतजार करना होगा.

इस बीच, राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बीजेपी की राजनीतिक प्रस्ताव पास हो गया है. पार्टी के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी ने राजनीतिक प्रस्ताव पेश किया जिसका समर्थन गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पार्रिकर और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया.

इस राजनीतिक प्रस्ताव में कहा गया है कि यूपीए के चार साल देश के लिए बेहद ही खराब रहे. इस दौरान के देश में आर्थिक गिरावट आई.  इस प्रस्ताव में सोनिया-मनमोहन मॉडल पर सवाल उठाया गया है कि कांग्रेस का ढांचा दोषपूर्ण है. यूपीए में सत्ता के दो केंद्र हैं. दोनों केंद्रों के बीच मनमुटाव है. प्रस्ताव पर अपना मत रखते हुए पार्रिकर ने कहा कि यूपीए में सोनिया कैबिनेट अलग और मनमोहन सिंह कैबिनेट अलग है.
शाहनवाज हुसैन ने बताया कि देश कांग्रेस के कुशासन से मुक्ति चाहता है और बीजेपी ही एक मात्र विकल्प है.

हालांकि, इन सबके बीच रविवार सुबह खबर आई कि मोदी ने अपने पार्टी नेताओं पर दबाव बनाया है कि रविवार को ही पीएम पद के उम्मीदवार का भी ऐलान होना चाहिए. इसके बाद देर रात पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई.

मोदी सर्मथकों की भी मांग है कि गुजरात के मुख्यमंत्री को पीएम उम्मीदवार के लिए प्रोजेक्ट किया जाए. हालांकि मोदी खेमे की इस मांग को फिलहाल राजनाथ सिंह ने टाल दिया है.

वहीं, आडवाणी को मनाने की कवायद भी जारी है. रविवार को बैठक शुरू होने से पहले राजनाथ सिंह ने आडवाणी से फोन पर बात की. सूत्रों की मानें तो इस दौरान राजनाथ ने आडवाणी को आज होने वाले ऐलान की जानकारी दी.

इसके अलावा रविवार को आरएसएस नेता भैयाजी जोशी ने भी आडवाणी से मुलाकात की. इस बैठक में किस बात पर चर्चा हुई इसके बारे में कोई आधिकारिक घोषणा तो नहीं हुई. पर सूत्रों की मानें तो भैयाजी जोशी ने आडवाणी को यह जानकारी दी कि पद को ऐलान का यही सही वक्त है, अब इंतजार नहीं किया जा सकता.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें