scorecardresearch
 

BJP नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने फिर कहा- राम मंदिर में ही मनाएंगे अगली दिवाली

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, ‘‘हम अगली दिवाली राम मंदिर में मनाएंगे. अयोध्या में राम मंदिर अगले साल अक्तूबर तक लगभग तैयार हो जाएगा, क्योंकि सब कुछ तैयार है और निर्माण के लिए सभी सामग्री पहले से मौजूद है. उसे केवल जोड़ना है, जैसा स्वामी नारायण मंदिर के मामले में हुआ था.’’

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी

बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एक बार फिर कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जल्द शुरू होगा और अगली दिवाली तक श्रद्धालु वहां जा सकते हैं. शनिवार रात मुंबई में ‘रामराज्य’ विषय पर आयोजित एक व्याख्यान में उन्होंने कहा, ‘‘हम अगली दिवाली राम मंदिर में मनाएंगे. अयोध्या में राम मंदिर अगले साल अक्तूबर तक लगभग तैयार हो जाएगा, क्योंकि सब कुछ तैयार है और निर्माण के लिए सभी सामग्री पहले से मौजूद है. उसे केवल जोड़ना है, जैसा स्वामी नारायण मंदिर के मामले में हुआ था.’’

बीजेपी नेता ने रामजन्मभूमि बाबरी मस्जिद मामले की पांच दिसंबर को होने वाली सुनवाई से पहले कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट पहले ही मामले में काफी गहराई तक गौर कर चुका है और सुन्नी वक्फ बोर्ड के लिए इसके खिलाफ दलील देने को कुछ भी बचा नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने एक अतिरिक्त दलील दी है कि उस स्थान पर प्रार्थना करना मेरा और हिंदू समुदाय का मूलभूत अधिकार है. मुस्लिमों को वह अधिकार नहीं है. उनकी रुचि सिर्फ सम्पत्ति में है, जो एक सामान्य बात है.’’

बीजेपी नेता ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए एक नया कानून बनाने की कोई जरूरत नहीं है. उन्होंने दावा किया कि तत्कालीन नरसिंह राव सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दायर एक हलफनामे में कहा था कि अगर यह स्थापित हो जाता है कि स्थान पर एक मंदिर था, तो जमीन मंदिर के निर्माण के लिए दे दी जाएगी. वह अब साबित हो गया है.  

इससे पहले पटना में एक समारोह को संबोधित करते हुए स्वामी ने कहा था कि राम मंदिर की राह में आई रुकावटों को दूर किया जा रहा है. निर्माण कार्य जल्द शुरू किया जाएगा. अगले हफ्ते हम लोग दिवाली मनाने वाले हैं, लेकिन अगली दिवाली तक राम मंदिर श्रद्धालुओं के लिए पूजा के लिए उपलब्ध होगा. उन्होंने कहा कि केवल विकास की बात कर कोई वोट हासिल नहीं कर सकता. चुनावी कामयाबी के लिए हिंदुत्व को भी याद रखना जरूरी है.

वहीं, यूपी निकाय चुनाव में बीजेपी की धमाकेदार जीत के बाद से यह अटकलें लगाई जा रही हैं कि क्या अब राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया है? एक तरफ ये मामला सुप्रीम कोर्ट में है, तो दूसरी तरफ बीजेपी सांसद ने निकाय चुनाव में बीजेपी की जीत को राम मंदिर से जोड़कर नई अटकलों को जन्म दे दिया है. इससे पहले योगी ने अयोध्या में दिवाली के दिन पूजा कर भगवान राम का आशीर्वाद लिया था, लेकिन आज अयोध्या की जनता ने भी निकाय चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी के माथे पर जीत का टीका लगाकर योगी की झोली भर दी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें