scorecardresearch
 

कब से शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण? इन 4 शुभ मुहुर्त पर ट्रस्ट की नजर

राम मंदिर निर्माण के शुभारंभ के लिए अगले दो महीनों में आने वाले चार सबसे शुभ मुहूर्त पर विचार किया जाएगा. ट्रस्ट के सूत्रों के मुताबिक, वर्ष प्रतिपदा, श्रीरामनवमी, अक्षयतृतीया और हनुमान जयंती के मुहूर्त पर विचार किया जाएगा.

राम मंदिर का मॉडल राम मंदिर का मॉडल

  • श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की दिल्ली में बैठक आज
  • बैठक में तय होगी राम मंदिर निर्माण के शुभारंभ की तारीख

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए आज श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक होने वाली है. इस बैठक में राम मंदिर निर्माण के शुभारंभ के लिए अगले दो महीनों में आने वाले चार सबसे शुभ मुहूर्त पर विचार किया जाएगा. ट्रस्ट के सूत्रों के मुताबिक, वर्ष प्रतिपदा, श्रीरामनवमी, अक्षयतृतीया और हनुमान जयंती के मुहूर्त पर विचार किया जाएगा.

दरअसल मंदिर निर्माण के शुभारंभ से पहले ट्रस्ट और संपत्तियों के ट्रांसफर से संबंधित कई तकनीकी और कानूनी मसले तय होने हैं. 67 एकड़ में से मंदिर के लिए तय भूमि समतल भी की जानी है. लिहाजा एकदम हड़बड़ी में बिना पूर्व तैयारी का होमवर्क किए बगैर शुभारंभ की तिथि घोषित करने का कोई मतलब नहीं है.

पढ़ें: राम मंदिर निर्माण का तैयार होगा खाका, बैठक में उठेंगे अहम मुद्दे

चंदे की रकम के लिए खोला जाएगा बैंक अकाउंट

सभी पहलुओं को और इनमें लगने वाले समय का हिसाब लगाकर ही ट्रस्ट संभावित तारीख तय करेगा. मंदिर निर्माण के काम को दो सालों में पूरा करने का लक्ष्य रखा जाएगा. इसके साथ ही चंदे की रकम को जमा करने के लिए एक बैंक एकाउंट ट्रस्ट के नाम पर खोला जाए, इस प्रस्ताव को आज की मीटिंग में रखा जाएगा.

पीएम नरेंद्र मोदी से नींव रखवाने की तैयारी

ट्रस्ट से जुड़े लोगों का कहना है इस पर भी विचार होगा कि मंदिर के निर्माण के लिए नींव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रखें. ट्रस्ट की आज पहली मीटिंग है. इसके बाद समय-समय पर ट्रस्ट की मीटिंग होती रहेगी. ट्रस्ट से जुड़े लोगो का कहना है कि कुछ बिजनेस घरानों ने मंदिर निर्माण की जिम्मेदारी उठाने में दिलचस्पी दिखाई है.

पढ़ें: ट्रस्ट में शामिल होंगे महंत नृत्य गोपाल दास और चंपत राय, 2 IAS के भी नाम

राम मंदिर से सबको जोड़ने की कोशिश

हालांकि, ट्रस्ट के लोगों ने मना कर दिया और कहा कि ये राम मंदिर सभी का है, लिहाजा किसी एक संगठन या प्रतिष्ठान के पैसे से निर्माण नहीं होगा. ट्रस्ट के लोगों का मानना है कि मंदिर के सहारे सभी को जोड़ने का प्रयास किया जाएगा. ट्रस्ट के लोगों का कहना कि दक्षिण भारत के भी कई मंदिरों ने राम मंदिर निर्माण के लिए सहायता देने की बात कही है.

रामलला का पैन-आधार बनवाने की तैयारी

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक में रामलला के नाम से जमा रकम बैंक में सावधि जमा खाते में रखने के लिए रामलला का पैन और आधार कार्ड भी बनवाने पर विचार होगा. मंदिर निर्माण के लिए पैसा एकाउंट में जमा हो जिससे पारदर्शिता बनी रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×