scorecardresearch
 

अयोध्या मामले में बोले सुन्नी धर्मगुरु- सुप्रीम कोर्ट के आदेश का करेंगे सम्मान

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई पूरी हो चुकी है. अब फैसले का इंतजार है. इसी बीच सुन्नी धर्म गुरु खालिद रशीद फिरंगी महली ने जुमे की नमाज में ईदगाह में लोगों से अपील कर सोशल मीडिया का सकारात्मक फायदा उठाने की बात कही.

फाइल फोटो फाइल फोटो

  • सोशल मीडिया का सकारात्मक फायदा उठाएं: सुन्नी धर्मगुरु
  • मुसलमान इस मुल्क में सामंजस्य बनाकर रखें: सुन्नी धर्म गुरु

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई पूरी हो चुकी है. अब फैसले का इंतजार है. इस बीच सुन्नी धर्म गुरु खालिद रशीद फिरंगी महली ने जुमे की नमाज में ईदगाह में लोगों से अपील कर सोशल मीडिया का सकारात्मक फायदा उठाने की बात कही है. साथ ही उन्होंने कहा कि अयोध्या मामले में फैसले का सम्मान करेंगे.

सुन्नी धर्म गुरु खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कि अयोध्या का मामला बड़ा है. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने पूरी ताकत लगा दी है. अब इस मामले में आखिरी फैसला आने वाला है. ऐसे में सोशल मीडिया का सकारात्मक फायदा उठाएं. उन्होंने कहा कि इस पूरे महीने में गैर-मुस्लिम भाइयों तक संदेश पहुचाएं. डर या खौफ में रहने की जरूरत नहीं है. संविधान पर विश्वास है.

फिरंगी महली ने कहा कि जो भी सुप्रीम कोर्ट का फैसला आएगा, उसका हम सब सम्मान करेंगे. साथ ही उन्होंने अपील की कि उस फैसले पर न तो कोई जश्न मनाए और न ही खुशियां. हर हाल में भाईचारा बनाए रखें. उन्होंने कहा कि मुल्क की बदनामी न हो, इसलिए हमारी जिम्मेदारी है कि अमन कायम रखें. मुसलमान इस मुल्क में सामंजस्य बनाकर रखें. सब मिलकर भाईचारा बनाए रखें.

RSS ने क्या कहा?

इससे पहले अयोध्या मामले पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने सुप्रीम कोर्ट के आने वाले फैसले को खुले मन से स्वीकार करने की बात कही है. आरएसएस ने कहा, 'आगामी दिनों में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के वाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने की संभावना है. निर्णय जो भी आए उसे सभी को खुले मन से स्वीकार करना चाहिए. निर्णय के बाद देश भर में वातावरण सौहार्दपूर्ण रहे.'

कब आ सकता है फैसला?

बता दें कि अयोध्या के बाबरी मस्जिद-राम मंदिर मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है. उम्मीद की जा रही है कि नवंबर में ही इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला दे सकता है. सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पांच जजों की बेंच ने 40 दिन तक लगातार सुनवाई करने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें