scorecardresearch
 

इंदौर पहुंचा शहीद औरंगजेब का परिवार, शौर्य चक्र पर जताई खुशी

मेजर आदित्य कुमार और राइफलमैन औरंगजेब समेत सशस्त्र बलों के 20 कर्मियों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाएगा. जम्मू कश्मीर के रहने वाले औरंगजेब को भी तीसरा सबसे बड़ा शौर्य पुरस्कार दिया जाएगा.

इंदौर में आरंगजेब की मां इंदौर में आरंगजेब की मां

जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए जवान औरंगजेब को शौर्य चक्र दिए जाने की घोषणा के बीच उनका परिवार स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मध्य प्रदेश के इंदौर पहुंचा है. यहां शहीद औरंगजेब का परिवार ध्वजारोहण समारोह में शिरकत करेगा.

इससे पहले इंदौर पहुंचने पर शहीद के पिता ने शौर्य चक्र मिलने के लिए खुशी जाहिर की. साथ ही ये भी कहा कि उन्हें देश की सरकार पर भरोसा है, लेकिन जम्मू कश्मीर के नेताओं से उन्हें कोई सपोर्ट नहीं मिला है.

बेटे की तस्वीर चूमकर रोई मां

इस दौरान शहीद औरंगजेब की मां समारोह स्थल पर लगी अपने बेटे की तस्वीर देखकर रोने लगीं. हालांकि, उन्हें इस बात पर फख्र है कि उनके बेटे को शौर्य चक्र मिला है. उन्होंने घाटी में हालात के लिए स्थानीय नेताओं को जिम्मेदार ठहराया. शहीद औरंगजेब की मां ने कहा कि

पाकिस्तान के साथ मिलकर दहशत फैलाने वाले और राजनीति करने वाले जम्मू कश्मीर का भला नहीं होने दे रहे हैं.

आतंकवादियों ने इसी साल जून महीने में पुलवामा से अगवा करके उनकी बर्बरता से हत्या कर दी थी. उस वक्त वह ईद मनाने के लिए छुट्टी पर अपने घर जा रहे थे. 44 राष्ट्रीय राइफल्स से ताल्लुक रखने वाले औरंगजेब का गोलियों से छलनी शव पुलवामा में कलामपुरा से करीब 10 किलोमीटर दूर मिला था.

अब उन्हें शौर्य पुरस्कार दिया गया है. औरंगजेब को पुरस्कार पिछले साल (2017) छह नवंबर को दक्षिण कश्मीर में आतंकवाद रोधी अभियान में वीरता दिखाने के लिए दिया गया है.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें