scorecardresearch
 

अलवर मुद्दे पर संसद में हंगामा, सरकार का जवाब- जमीन पर ऐसी कोई घटना नहीं हुई

राज्यसभा में अलवर कांड पर हंगामा हुआ. कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह ने अलवर का मुद्दा सदन के सामने उठाया. उन्होंने गौरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी का आरोप लगाया. 

अलवर मुद्दे पर संसद में हंगामा अलवर मुद्दे पर संसद में हंगामा

राज्यसभा में गुरुवार को अलवर कांड पर हंगामा हुआ. कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह ने अलवर का मुद्दा सदन के सामने उठाया. उन्होंने गौरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी का आरोप लगाया. केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास ने आरोपों का जवाब दिया. नकवी ने ऐसी किसी घटना होने से ही इनकार कर दिया. उन्होंने सदन को बताया कि जिस घटना का जिक्र किया जा रहा है वैसी कोई घटना जमीन पर नहीं हुई है.

'गुंडागर्दी का समर्थन नहीं'
मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हम ऐसी किसी घटना का समर्थन नहीं करते. नकवी ने सदन में कहा-गौरक्षा के नाम पर होने वाली गुंडागर्दी का सरकार समर्थन नहीं करती. उन्होंने कहा-ये मामला बेहद संवेदनशील है और सदन से ऐसा संदेश नहीं जाना चाहिए कि हम गौहत्या के समर्थन में खड़े हैं.

हंगामे पर उपसभापति ने कहा कि मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर सदन में चर्चा नहीं की जा सकती है. उन्होंने कहा कि रिपोर्ट आने तक अलवर मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं होगी. उपसभापति पीजे कुरियन ने सरकार को यह निर्देश दिया कि वह इस मामले में गृह मंत्रालय से रिपोर्ट ले और उसे सदन के सामने पेश करे.

गुरुवार को कांग्रेस की तरफ से यह मामला उठाए जाने के बाद इसको लेकर खासा हंगामा हुआ. विपक्ष के तमाम नेता इस मामले पर बोलना चाहते थे. जब उपसभापति ने कहा कि इस तरह से इस मामले पर पूरी बहस नहीं कराई जा सकती तो कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया.

विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मामला बेहद महत्वपूर्ण है और सब को इस पर बोलने का मौका मिलना चाहिए. लेकिन कुरियन ने कहा कि इस तरह से हंगामा कर के सदस्य चेयर पर दबाव नहीं बना सकते. हंगामा तब और भड़क गया जब सरकार की तरफ से जवाब देते हुए मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि अलवर में ऐसी कोई घटना नहीं हुई है और राज्य सरकार पहले ही इसका खंडन कर चुकी है. नकवी ने कहा कि देश के सामने ऐसा संदेश नहीं जाना चाहिए कि यह सदन गौ हत्या का समर्थन कर रहा है.

लेकिन कांग्रेस के सदस्य शांत नहीं हुए. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि देश विदेश के अखबारों में इस घटना के बारे में छप चुका है लेकिन मंत्री को इसके बारे में पता नहीं है.

बता दें कि अलवर में गौरक्षा के नाम पर एक शख्स की पिटाई का मामला सामने आया था. गो-तस्करी के आरोप में लोगों ने करीब 15 संदिग्ध तस्करों के साथ बुरी तरह मारपीट की. जिसमें एक शख्स की मौत हो गई. बाद में मिले दस्तावेजों से साफ होता है कि उनके पास गाय ले जाने के दस्तावेज भी थे.

राज्यसभा में आज एक बार फिर जीएसटी बिल पर चर्चा होनी है. वित्त अरुण जेटली सदन में विपक्ष के सवालों का जवाब देंगे. बुधवार को बिल पर चर्चा करते हुए विपक्ष ने बिल पर कई सवाल उठाए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें