scorecardresearch
 

'घर वापसी' से नाराज हुए PM नरेंद्र मोदी, तोगड़िया बोले- जो हो रहा है वो चलता रहेगा

धर्मांतरण मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की फजीहत के बाद विश्व हिन्दू परिषद (वीएचपी) ने 'घर वापसी' कार्यक्रम पर रोक लगा दी है. वीएचपी ने यह रोक पीएम मोदी की नाराजगी के बाद लगाई है. हालांकि वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया ने इस बारे में बताया कि कार्यकर्ताओं को किसी भी नए कार्यक्रम को शुरू या बंद करने के बारे में कोई निर्देश नहीं दिया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

धर्मांतरण मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की फजीहत के बाद विश्व हिन्दू परिषद (वीएचपी) ने 'घर वापसी' कार्यक्रम पर रोक लगा दी है. वीएचपी ने यह रोक पीएम मोदी के नाराजगी जताई के बाद लगाई है. हालांकि वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया ने इस बारे में बताया कि कार्यकर्ताओं को किसी भी नए कार्यक्रम को शुरू या बंद करने के बारे में कोई निर्देश नहीं दिया गया है.

'द टाइम्स ऑफ इंडिया' की खबर के मुताबिक, वीएचपी की ओर से 'घर वापसी' कार्यक्रम पर रोक लगाने का ऐलान गुजरात के वलसाड में 500 ईसाई आदिवासियों के धर्मांतरण के बाद पैदा हुए विवाद के चलते किया गया है. इस विवाद की वजह से पीएम मोदी ने संगठन से नाखुशी जाहिर की थी. तोगड़िया ने कहा कि अब जिन कार्यक्रमों को प्रमुखता से दिखाया जा रहा है, वे कई सालों से चल रही हैं. इन कार्यक्रमों में कुछ भी नया नहीं किया जा रहा है. मध्यप्रदेश में संगठन ने दावा किया है कि रविवार को 6 लाख लोगों की घर वापसी कराई गई. केरल में भी कम से कम 30 दलित आदिवासियों का धर्मांतरण कराया गया.

वीएचपी की ओर से फिलहाल 40 लाख धर्मांतरणों पर रोक लगाई गई है. गौरतलब है कि वीएचपी प्रमुख अशोक सिंघल ने कहा था कि हिंदू संस्कृति और धर्म को पिछले 800 साल से दबाया गया है और अब हम कह सकते हैं कि एक ऐसी सरकार आ गई है जो हिंदुत्व की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है. हम धर्मांतरण नहीं दिल जीतने निकले हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें