scorecardresearch
 

AAP के फेसबुक पेज पर तिरंगे की 'विवादास्पद' फोटो से बवाल, BJP पर भी काउंटर अटैक

स्वतंत्रता दिवस से ठीक पहले आम आदमी पार्टी को एक और नए विवाद का सामना करना पड़ा. पार्टी के आधिकारिक फेसबुक पेज पर तिंरगे का 'विवादास्पद' फोटो लगाए जाने के बाद विवाद हो गया. बीजेपी समर्थकों ने इस मामले में अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की.

X
AAP tri-colour Photo
AAP tri-colour Photo

स्वतंत्रता दिवस से ठीक पहले आम आदमी पार्टी को एक और नए विवाद का सामना करना पड़ा. पार्टी के आधिकारिक फेसबुक पेज पर तिंरगे का 'विवादास्पद' फोटो लगाए जाने के बाद विवाद हो गया. बीजेपी समर्थकों ने इस मामले में अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की. लेकिन बीजेपी समर्थकों के लिए उस वक्त असहज कर देने वाली स्थिति पैदा हो गई जब AAP ने BJP की ओर से तिरंगे के कथित अपमान की तस्वीरें सोशल मीडिया शेयर करनी शुरू कर दीं.

आलोचकों ने बताया इटली का झंडा
दरअसल, आम आदमी पार्टी के फेसबुक पेज पर कवर फोटो के रूप में एक तस्वीर लगाई गई, जिसमें तिरंगे के रंगों का इस्तेमाल किया गया था. तीन रंगों के बीच में अशोक चक्र की जगह एक टपकती हुई बूंद थी, वहीं दाईं तरफ लिखा था, 'पैट्रियॉटिज्म इन एव्री ड्रॉप', यानी हर बूंद में देशभक्ति. लेकिन केसरिया की जगह लाल रंग की पट्टी नजर आ रही थी. आलोचकों ने इसे इटली का झंडा बताना शुरू कर दिया और लिखने लगे कि केजरीवाल की पार्टी सोनिया गांधी के मूल स्थान इटली के प्रति निष्ठावान है, भारत के प्रति नहीं.

 

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इसकी कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी को ऐसा क्यों लगता है कि वह भारतीयों को पागल बना सकती है. मामले के तूल पकड़ने पर AAP ने कहा कि झंडा इटली का नहीं, बल्कि महज एक क्रिएटिविटी का नमूना है. पार्टी ने कहा कि जो लोग फोटोशॉप की बारीकियां जानते हैं, उन्हें मालूम होना चाहिए कि इमेज प्रोसेसिंग की वजह से ऐसा हुआ.

पार्टी के सोशल मीडिया की जिम्मेदारी संभालने वाले अंकित लाल ने फेसबुक पर लिखा, 'कलर स्पेक्ट्रम नाम की एक चीज होती है. किसी भी फोटो एडिटिंग सॉफ्टवेयर में जब आप इमेज को बहुत ज्यादा कंप्रेस कर देते हैं तो वह केसरिया रंग अपने आप लाल रंग जैसा दिखाने लगता है.' इस पोस्ट के साथ अंकित ने केसरिया रंग वाली मूल तस्वीर भी शेयर की.

इसके बाद आम आदमी पार्टी की ओर से बीजेपी पर 'काउंटर अटैक' शुरू हो गए. AAP समर्थकों और कार्यकर्ताओं ने ऐसी तस्वीरें शेयर की जिनसे लग रहा था कि बीजेपी की ओर से तिरंगे का अपमान किया गया. मसलन एक जगह तिरंगे को हटाकर वहां बीजेपी का झंडा लगाया जा रहा था और ऐसा कर रहे शख्स ने तिरंगे को अपनी दोनों टांगों के बीच से पकड़ रखा था. AAP समर्थकों ने सोशल मीडिया पर पलटवार करते हुए लिखा कि जो लोग एक 'क्रिएटिव' तस्वीर को आपत्तिजनक बताकर चिंता जता रहे हैं, वे खुद तिरंगे का कितना सम्मान करते हैं, यह भी सबको देखना चाहिए.

 

 

 

तिरंगे के अपमान को लेकर राजनीति के गलियारों में पहले भी हंगामा होता रहा है. वरिष्ठ बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी से लेकर यूपीए कार्यकाल में सूचना प्रसारण मंत्रालय तक तिरंगे के अपमान का आरोप झेल चुके हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें