scorecardresearch
 

विपक्ष को अरुण जेटली की नसीहत- पाकिस्तान में TRP मिलने का देश में होगा नुकसान

Aajtak Suraksha Sabha पाकिस्तान में भारतीय वायु सेना के विमानों द्वारा किए गए एयरस्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले लोगों की केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जमकर निंदा की है. उन्होंने कहा कि ऐसे लोग पाकिस्तान के टीवी चैनलों की टीआरपी बढ़ाने का काम कर रहे हैं.

X
आजतक की सुरक्षा सभा में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली आजतक की सुरक्षा सभा में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री ने एयरस्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले नेताओं की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि ऐसे लोगों को पाकिस्तान के टीवी चैनलों में TRP तो मिल जा रही है, लेकिन देश का नुकसान हो रहा है. देश की सुरक्षा से जुड़े मसलों पर चर्चा के लिए आजतक द्वारा आयोजित विशेष 'सुरक्षा सभा' को संबोधित करते हुए जेटली ने यह बात कही.

पाक चैनलों की टीआरपी के लिए काम कर रहे कुछ लोग

उन्होंने कहा, 'हिंदुस्तान में कुछ लोग फर्जी कैम्पेन चलते हैं, राफेल पर, जज लोया पर, सब पर फेक कैम्पेन चलाते हैं. हमारे यहां एक कुछ सीमित लोग हैं, वामपंथी हैं, एमनेस्टी, मानवाधिकार या एडिट पेज वाले जो सर्जिकल स्ट्राइक या एयरस्ट्राइक पर सवाल उठाते हैं, फेक न्यूज फैलाते हैं. आज कुछ लोग पाकिस्तान में टीवी चैनलों की टीआरपी के लिए काम कर रहे हैं.'

गौरतलब है कि पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के भीतर एयरस्ट्राइक किया था और बालाकोट में जैश के आतंकी अड्डे को नष्ट कर दिया था. इसके बाद करीब एक हफ्ते तो पूरा देश साथ रहा, लेकिन इसके बाद विपक्ष के कई नेताओं ने इस स्ट्राइक पर सवाल उठाने शुरू कर दिए और इसके सबूत मांगे जाने लगे. इंटरनेशनल मीडिया ने भी इस स्ट्राइक पर सवाल उठाए जो पाकिस्तान प्रायोजित दौरे पर बालाकोट गए थे.

अरुण जेटली ने कहा, 'अगर हम देश में एक आवाज में बोलेंगे तो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए यह बेहतर होगा. हम चीन से 62 की लड़ाई हार गए. सारे देश को चिंता थी प्रिजनर ऑफ वार की, लेकिन आज तक उस वॉर की डिटेल सार्वजनिक नहीं की गई, क्योंकि यह देश हित में नहीं है. 1971 में जब पाकिस्तान से जंग हुआ तो आप उस समय के हमारे नेता अटल बिहारी वाजपेयी के भाषण को देख लीजिए. वे पूरी तरह से सरकार के साथ थे.'  

उन्होंने कहा, 'सेना के मुखिया कह रहे हैं कि हमने टारगेट हिट किया और आप कहते हो कि झूठ बोल रहे हैं. क्या कोई जिम्मेवार देश या सेना अपने अभियान की डिटेल सार्वजनिक करता है? हमारा वहां इंटेलीजेंस था पाकिस्तान में हम क्या उसको सार्वजनिक कर सकते हैं?' इतना बड़ा सफल ऑपरेशन जिस पर एयरफोर्स सहित पूरा देश गर्व कर रहा है आप उनसे सबूत मांग रहे हो.'  

एयरस्ट्राइक के बाद भारत का रुख पाकिस्तान के खिलाफ कैसा होना चाहिए, इसका लोकसभा चुनावों में क्या असर पड़ेगा इन सभी बातों पर चर्चा करने के लिए आजतक ने आज विशेष ‘सुरक्षा सभा’ का आयोजन किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें