scorecardresearch
 

सतारा के सैनिक स्कूल के बच्चों से अभिभूत हुए राहुल गांधी

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी इन दिनों महाराष्ट्र के तीन दिनों के दौरे पर हैं जहां वह सतारा के सैनिक स्कूल के बच्चों की प्रतिभा के कायल हो गए.

X

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी इन दिनों महाराष्ट्र के तीन दिनों के दौरे पर हैं जहां वह सतारा के सैनिक स्कूल के बच्चों की प्रतिभा के कायल हो गए.

पश्चिम महाराष्ट्र के ऐतिहासिक शहर आने पर उन्होंने युवक सम्मेलन को संबोधित किया और अपने व्यस्त कार्यक्रम से समय निकाल कर स्कूल के 600 बच्चों के साथ बातचीत की. स्कूल अपना स्वर्ण जयंति कार्यक्रम मना रहा है.

राहुल ने कहा, ‘ मैं युवाओं के बीच रहना हमेशा पसंद करता हूं. आप देश के भविष्य हैं और रक्षा बलों की भूमिका का मैं पूरा सम्मान करता हूं. मुझे बताया गया कि आपके स्कूल के 1,000 बच्चे अब तक सैन्य बलों में अधिकारी के रूप में शामिल हो चुके हैं और कई प्रशासनिक सेवाओं में योगदान दे रहे हैं.’

उन्होंने कहा ‘मेरे दिवंगत पिता का सपना था कि युवाओं को सबसे आगे होना चाहिए और देश का नेतृत्व करना चाहिए. मैं भी ऐसा ही महसूस करता हूं.’

हेलीकाप्टर से यहां पहुंचने पर स्कूल के प्राचार्य कर्नल वी एन चतुर्वेदी ने राहुल का आगवानी की. उन्होंने आगंतुक पुस्तिका में लिखा, ‘ आप में से कुछ राजनीतिज्ञ भी बन सकते हैं.’ सतारा जिले से संबद्ध राज्य के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण इस स्कूल के बड़े समर्थक रहे हैं.{mospagebreak}

पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा, ‘ चीन युद्ध (1962) के बाद ऐसा महसूस किया गया कि रक्षा कैडेटों को तैयार करने के लिए कुछ समर्पित संस्थान होने चाहिए.’ उन्होंने कहा कि सैनिक स्कूल स्थापित करने का विचार महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री यशवंतराव चव्हाण ने दिया था.

सतारा में सैनिक स्कूल 115 एकड़ में फैला हुआ है. मुख्य इमारत में एक बड़ा जिम है. इमारत में कक्षाएं, प्रयोगशाला और एक पुस्तकालय है. स्कूल में तरणताल, घुड़सवारी क्लब और आडिटोरियम है जो सिनेमा हाल से जुड़ा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें