scorecardresearch
 

शिक्षा का अधिकार नियति के साथ मिलन है: सिब्बल

शिक्षा का अधिकार कानून कल से देश में लागू हो जाएगा और इस पर मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल ने बुधवार को कहा कि यह शिक्षा के क्षेत्र में ‘नियति के साथ मिलन’ है.

शिक्षा का अधिकार कानून कल से देश में लागू हो जाएगा और इस पर मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल ने बुधवार को कहा कि यह शिक्षा के क्षेत्र में ‘नियति के साथ मिलन’ है.

सिब्बल ने संवाददाताओं से कहा, ‘गुरुवार को एक ऐतिहासिक दिन होगा क्योंकि शिक्षा का अधिकार कानून प्रभाव में आएगा. शिक्षा एक संवैधानिक अधिकार बनने जा रही है. यह शिक्षा के क्षेत्र में नियति के साथ मिलन है.’

‘नियति के साथ मिलन’ पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के साथ जुड़ा एक प्रसिद्ध जुमला है, जिसका इस्तेमाल उन्होंने 14 अगस्त 1947 की अर्धरात्रि को दिये गये ऐतिहासिक भाषण में किया था, जब भारत को आजादी मिली थी.

सिब्बल ने कहा कि गुणवत्ता परक शिक्षा प्रदान करना कांग्रेस नेतृत्व, इसकी अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का सपना है. उन्होंने कहा, ‘गुरुवार से कोई भी बच्चा शिक्षा के लिए अपने अधिकार को मांग सकता है. उसे इस अधिकार से इनकार नहीं किया जाएगा.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें