scorecardresearch
 

मुंबई: शिवसेना के रैली आयोजकों के खिलाफ दूसरा केस दर्ज हुआ

दशहरा पर शिवाजी पार्क में अयोजित रैली में शोरगुल का स्‍तर 70-75 डेसीबल दर्ज किया गया था जिसे लेकर प्रशासन ने रैली अयोजकों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. इसी मामले में आज एक और मामला दर्ज हुआ है.

दशहरा पर शिवाजी पार्क में अयोजित रैली में शोरगुल का स्‍तर 70-75 डेसीबल दर्ज किया गया था जिसे लेकर प्रशासन ने रैली अयोजकों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. इसी मामले में आज एक और मामला दर्ज हुआ है. यह मामला पर्यावरण एक्‍ट के तहत दर्ज किया गया है.

ध्‍वनी प्रदूषण को लेकर दर्ज मामले को लेकर बाल ठाकरे ने अपने समाचार पत्र सामना में लिखा है कि अगर रैली में ध्‍वनी प्रदूषण इतना तेज था तो भिंडी बाजार और बेहमपाड़ा इलाके में स्थित मस्जिद से अजान के दौरान लाउडस्‍पीकर पर जो आवाज आती है उससे बच्‍चे और वृद्ध भी प्रभावित होते हैं. उस पर भी मामला दर्ज होना चाहिए.

शिवाजी पार्क में आयोजित रैली में 45 हजार से अधिक शिव सैनिकों ने हिस्‍सा लिया था. इस रैली में राज ठाकरे से लेकर कांग्रेस तक सबके ऊपर बरसे बाल ठाकरे.

लंबे समय के बाद बाल ठाकरे ने रैली की, तो नजारा बदला हुआ था. शिवसेना सुप्रीमो बाल ठाकरे ने पार्टी की कमान सौंप दी अपनी तीसरी पीढ़ी को. बाल ठाकरे ने उत्तराधिकारी के तौर पर अपने पोते को थमा दी तलवार और साफ कर दिया कि उद्धव ठाकरे का बेटा और उनका पोता आदित्य ठाकरे होगा शिवसेना का नया वारिस.

युवा आदित्य ठाकरे अब शिवसेना का नया चेहरा होंगे और पार्टी उन्हें शिवसेना के नए युवराज के तौर पर धीरे-धीरे स्थापित करेगी. दशहरा पर शिवाजी मैदान में हुई बाल ठाकरे ने रैली में शिवसेना पार्टी की कमान अपने पोते आदित्य के हाथों में थमा दी लेकिन परिवारवाद से परहेज जताया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें