scorecardresearch
 

2002 के गुजरात दंगों के लिए नरेंद्र मोदी ने माफी मांगने से किया इनकार

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य में 2002 में हुए दंगों के लिए माफी मांगने से इनकार कर दिया है.

नरेंद्र मोदी नरेंद्र मोदी

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य में 2002 में हुए दंगों के लिए माफी मांगने से इनकार कर दिया है.

मोदी ने कहा, ‘किसी से माफी मांगने के लिए तब कहना चाहिए जब वह किसी अपराध के लिए दोषी हो. यदि आपको लगता है कि यह कोई बड़ा अपराध है तो दोषी को क्यों छोड़ दिया जाए?’

उन्होंने वाल स्ट्रीट जर्नल से कहा, ‘केवल इसलिए कि मोदी मुख्यमंत्री हैं. उन्हें क्यों छोड़ा जाना चाहिए. मुझे लगता है कि यदि मैं दोषी हूं तो मुझे अधिकतम सजा मिलनी चाहिए. दुनिया को जानना चाहिए कि इस तरह के नेता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.’

मुख्यमंत्री से पूछा गया था कि क्या उन्हें दंगे के लिए माफी मांगनी चाहिए, जैसा कि उनके आलोचक मांग कर रहे हैं. यह पूछे जाने पर कि क्या वह खुद को भविष्य के प्रधानमंत्री के तौर पर देखते हैं, उन्होंने टालते हुए कहा, मैं गुजरात पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं, मैं इससे आगे की नहीं सोच रहा.’

मोदी ने कुपोषण के मुद्दे पर कहा, ‘मध्य वर्ग सुंदरता के प्रति स्वास्थ्य से कहीं अधिक सचेत है और यह एक चुनौती है.’

उन्होंने कहा, ‘यदि कोई मां अपनी बेटी से दूध पीने को कहती है, तो उनमें कहा सुनी हो जाती है. बेटी अपनी मां से कहती है कि मैं दूध नहीं पीयूंगी. मैं मोटी हो जाउंगी.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें