scorecardresearch
 

आतंकवादी हमलों से क्‍या है 13 का संबंध?

यह दुर्योग है कि अक्सर आतंकवादियों ने भारत में हमलों को अंजाम देने के लिए 13 तरीख को चुना. इस बार भी मुंबई में सिलसिलेवार विस्फोटों के लिए आतंकवादियों ने इसी दिन को चुना.

यह दुर्योग है कि अक्सर आतंकवादियों ने भारत में हमलों को अंजाम देने के लिए 13 तरीख को चुना. इस बार भी मुंबई में सिलसिलेवार विस्फोटों के लिए आतंकवादियों ने इसी दिन को चुना.

13 अंक के दुर्योग का सबसे बड़ा उदाहरण 13 दिसंबर 2001 दिल्ली में अति सुरक्षित माने जाने वाले संसद भवन परिसर में सामने आया जब पांच बंदूकधारी परिसर में प्रवेश कर गए. इस दौरान सुरक्षाबलों की मुस्तैदी से आतंकवादी संसद भवन में घुस तो नहीं पाए लेकिन इस दौरान छह सुरक्षाकर्मी और एक नागरिक शहीद हुए. कार्रवाई में पांचों आतंकवादी मारे गए.

जयपुर में 13 मई 2008 को नौ श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोट हुए जिसमें 63 लोगों की मौत हो गई जबकि 216 लोग घायल हो गए.

देश के महत्वपूर्ण पर्यटक स्थल के रूप में मशहूर जयपुर को पहली बार आतंकवादियों ने निशाना बनाया था और एक बम ऐतिहासिक हवा महल के पास फटा था. इस हमले का संदेह इंडियन मुजाहिदीन पर है.

इसी प्रकार 13 फरवरी 2010 को आतंकवादियों ने पुणे में जर्मन बेकरी को निशाना बनाया. इसमें इटली की एक महिला, सुडान के दो और ईरान के एक छात्र समेत 17 लोगों की मौत हो गई और 60 लोग घायल हो गए.

जर्मन बेकरी यहूदियों के चावड़ हाउस और ओशो आश्रम के पास स्थित है. इस स्थान पर विदेशी मेहमान और पर्यटक आते जाते रहे हैं. इस हमले के लिए पाकिस्तानी मूल के आतंकवादी डेविड कोलमैन हेडली पर आरोप है.

दिल्ली में 13 सितंबर 2008 को पांच श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोट हुए. आतंकवादियों की ओर से किये गए इस हमले में 30 लोगों की मौत हुई और 100 लोग घायल हुए.

असम में 13 दिसंबर 2004 को विधानसभा के बाहर दो बम विस्फोट हुए जिसमें दो लोगों की मौत हो गई और आठ अन्य घायल हो गए.

इसे दुर्योग ही माने की आतंकवादियों ने बुधवार को मुंबई में सिलसिलेवार बम विस्फोट को अंजाम दिया और इसके लिये तारीख ‘13’ जुलाई को चुना.

मुंबई के झवेरी बाजार, चरनी रोड स्थित ओपेरा हाउस और मध्य मुंबई के दादर में विस्फोट की घटनाएं हुई हैं. गृह विभाग ने मुंबई में हुए सिलसिलेवार विस्फोटों को आतंकवादी हमला बताया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें