scorecardresearch
 

शहला हत्याकांडः लापरवाही पर थाना प्रभारी लाइन हाजिर

आरटीआई कार्यकर्ता शहला मसूद हत्या प्रकरण में लापरवाही बरतने वाले कोहेफिजा पुलिस थाना प्रभारी (टीआई) धर्मेद्र सिंह तोमर को आला पुलिस अफसरों ने लाइन हाजिर कर दिया है.

मध्य प्रदेश मध्य प्रदेश

आरटीआई कार्यकर्ता शहला मसूद हत्या प्रकरण में लापरवाही बरतने वाले कोहेफिजा पुलिस थाना प्रभारी (टीआई) धर्मेद्र सिंह तोमर को आला पुलिस अफसरों ने लाइन हाजिर कर दिया है.

भोपाल के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक योगेश चौधरी के अनुसार टीआई तोमर पर ’प्रशासकीय कदाचरण’ का आरोप है. उन्होने टीआई की जांच का जिम्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) जोन-तीन राजेश मिश्रा को सौंपा है.

उल्लेखनीय है कि आरटीआई कार्यकर्ता शहला मसूद की गत सोलह अगस्त को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. राज्य सरकार की पहल पर हत्या की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है. शहला मामले में टीआई तोमर की लापरवाही शुरुआत से ही सामने आ रही है.

जानकार सूत्रों ने कहा कि घटना वाले दिन शहला के जब्त मोबाइल से थाने से फोन किया गया था. शहला की गाड़ी की तलाशी में भी लापरवाही बरती गई थी. खुद टीआई ने इस प्रकरण में मीडिया को बयान दिया था, जिसमें काफी गोपनीय रखी जाने वाली जानकारी आम कर दी गई थी, जो जांच को प्रभावित कर सकती थी.

पुलिस के आला अफसरों ने इसे गंभीर चूक माना है. टीआई फिलहाल पेशी पर बाहर गए हैं. इस मामले की जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. कहा जा रहा है कि जब मामले की जांच सीबीआई कर रही है, तब टीआई को बयान देने की जरुरत नहीं थी. आला अफसरों ने इसे ‘प्रशासनिक कदाचरण’ माना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें