scorecardresearch
 

अल कायदा के खिलाफ जारी रहेगा अभियान: करजई

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई ने कहा कि कट्टरपंथ और अतिवाद के खिलाफ अपने सैन्य अभियान को जारी रखते हुए अफगान सरकार उन तालिबानी तत्वों से वार्ता करेगी जो अल कायदा नेटवर्क का हिस्सा नहीं हैं.

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई ने कहा कि कट्टरपंथ और अतिवाद के खिलाफ अपने सैन्य अभियान को जारी रखते हुए अफगान सरकार उन तालिबानी तत्वों से वार्ता करेगी जो अल कायदा नेटवर्क का हिस्सा नहीं हैं.

करजई ने कहा कि हमारा यह मानना है कि हम अतिवाद और आतंकवादी नेटवर्क, अल कायदा और उसके सहयोगियों के खिलाफ अपना अभियान जारी रखेंगे और अफगानिस्तान, पाकिस्तान तथा क्षेत्र में स्थिरता स्थापित करने के लिए सैन्य अभियान से अलग माध्यम भी तलाश करेंगे.

करजई अपने पाकिस्तानी समकक्ष आसिफ अली जरदारी के साथ हुई वार्ता के बाद संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में तालिबान के साथ वार्ता के अपनी सरकार के प्रयासों संबंधी सवाल का जवाब दे रहे थे.

उन्होंने कहा कि अफगान सरकार कि उस तालिबान से वार्ता करेगी जो अल कायदा या किसी अन्य आतंकवादी तंत्र का हिस्सा नहीं हैं और जो अफगान संविधान का पालन करेंगे. उन्होंने साथ ही कहा कि इसमें धरती पुत्र और वे उग्रवादी शामिल हैं जिनकी अफगानिस्तान सरकार के साथ कोई वैचारिक दुश्मनी नहीं है और जो वार्ता में शामिल होना चाहेंगे.

इस अवसर पर जरदारी ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ खड़ा है और समाधान का हिस्सा है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की लोकतांत्रिक सरकार समस्या में साझीदार नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें