scorecardresearch
 

खनन घोटाला: गोवा और कर्नाटक में पड़ा छापा

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कर्नाटक के हजारों करोड़ रुपये के अवैध लौह अयस्क खनन घोटाले में कर्नाटक एवं गोवा में विभिन्न स्थानों पर छापे मारे.

केंद्रीय जांच ब्यूरो केंद्रीय जांच ब्यूरो

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कर्नाटक के हजारों करोड़ रुपये के अवैध लौह अयस्क खनन घोटाले में कर्नाटक एवं गोवा में विभिन्न स्थानों पर छापे मारे.

एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. सीबीआई ने एक बयान में कहा, '2500 करोड़ रुपये मूल्य के 50.7 टन लौह अयस्क के अवैध खनन एवं तटीय कर्नाटक पर स्थित बेलेकरी से निर्यात करने के सिलसिले में कुछ कम्पनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.'

केंद्रीय उच्चाधिकार प्राप्त समिति की 27 अप्रैल एवं छह सितम्बर की रिपोर्ट के आधार सर्वोच्च न्यायालय के सात सितम्बर के निर्देश के अनुसार मामला दर्ज किया गया है.

सीबीआई अधिकारी ने बताया, 'इस मामले में शनिवार को कर्नाटक के बेंगलुरू, संदूर, हास्पेट एवं कारवार और गोवा की राजधानी पणजी में 17 स्थानों पर निर्यातकों एवं कम्पनियों के खिलाफ सबूतों के सिलसिले में छापे मारे गए.'

ग्रीनटैक्स इंडस्ट्रीज, आईएलसी इंडस्ट्रीज, ड्रीम लॉजिस्टिक्स, एसबी लॉजिस्टिक्स एवं श्री मल्लिकार्जुन शिपिंग के ठिकानों पर छापे डाले गए.

जांच के दौरान 10 सदस्यीय टीम ने जेल में बंद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व मंत्री एवं खनन माफिया जी. जनार्दन रेड्डी सहित उनके सहयोगियों के ठिकानों की तलाशी ली गई.

सीबीआई अधिकारी ने शनिवार को बताया कि सालगांवकर माइनिंग इंडस्ट्री (एसएमआई) के संचालक अनिल सालगांवकर के निवास स्थान एवं कार्यालयों पर छापा मारा गया. अधिकारी के अनुसार गोवा एवं कर्नाटक में अवैध खनन में कथित तौर पर लिप्त 16 कम्पनियों के खिलाफ अंतर्राज्यीय छापेमारी अभियान का यह एक हिस्सा है.

अधिकारी ने बताया, 'यह छापा अवैध खनन मामले की जांच कर रही सीबीआई की कर्नाटक इकाई द्वारा डाला गया.'

अवैध खनन की जांच के लिए गठित न्यायमूर्ति एम.बी. शाह आयोग की रिपोर्ट में भी एसएमआई का उल्लेख किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें