scorecardresearch
 

जनलोकपाल नहीं तो राहुल गांधी को वोट नहीं!

जनलोकपाल विधेयक के प्रति जनता की राय जानने के लिये इंडिया अगेंस्ट करप्शन (आईएसी) संगठन द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी समेत उत्तर प्रदेश के कुछ प्रमुख प्रभावशाली सांसदों के निर्वाचन क्षेत्रों वाले नौ जिलों में कराए गए जनमत संग्रह के शुरुआती परिणामों में जन लोकपाल को जबर्दस्त समर्थन मिला है.

जनलोकपाल विधेयक के प्रति जनता की राय जानने के लिये इंडिया अगेंस्ट करप्शन (आईएसी) संगठन द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी समेत उत्तर प्रदेश के कुछ प्रमुख प्रभावशाली सांसदों के निर्वाचन क्षेत्रों वाले नौ जिलों में कराए गए जनमत संग्रह के शुरुआती परिणामों में जन लोकपाल को जबर्दस्त समर्थन मिला है.

आईएसी की राष्ट्रीय कोर समिति के सदस्य संजय सिंह ने बताया कि जनलोकपाल को लेकर गत 2 अक्‍टूबर को शुरू कराए गए जनमत संग्रह में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली, उनके बेटे और पार्टी महासचिव राहुल गांधी के चुनाव क्षेत्र अमेठी और समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव के निर्वाचन क्षेत्र मैनपुरी के अलावा अम्बेडकर नगर तथा कौशाम्बी में कराई गई रायशुमारी के नतीजे आ गए हैं.

उन्होंने बताया कि इस जनमत संग्रह में लोगों से पूछा गया था कि अगर क्षेत्रीय सांसद अथवा उनकी पार्टी संसद में अन्ना हजारे के जनलोकपाल विधेयक का समर्थन नहीं करते हैं तो क्या वे आने वाले चुनाव में उनको या उनकी पार्टी को वोट देंगे.

सिंह ने बताया कि सोनिया के निर्वाचन क्षेत्र में जनमत संग्रह के लिये एक लाख 40 हजार लोगों को फार्म बांटे गए थे, जिनमें से एक लाख छह हजार 910 (99.5 प्रतिशत) लोगों ने जन लोकपाल विधेयक के समर्थन में वोट दिया, जबकि मात्र 500 लोगों ने अपनी सांसद की हिमायत की.

सिंह ने बताया कि अमेठी में भी एक लाख 73 हजार 232 (98.3 प्रतिशत) लोगों ने कांग्रेस महासचिव राहुल के जनलोकपाल विधेयक का समर्थन नहीं करने पर उन्हें भविष्य में वोट नहीं देने का इरादा जाहिर किया, जबकि 2, 983 लोगों ने अपने सांसद को ही वोट देने की बात कही. उन्होंने बताया कि संसद की स्थायी समिति के सदस्य कौशाम्बी से सपा सांसद शैलेन्द्र कुमार के निर्वाचन क्षेत्र में कराए गए जनमत संग्रह में कुल एक लाख दो हजार लोगों में से एक लाख 1830 (99 प्रतिशत) लोगों ने जनलोकपाल के समर्थन में, जबकि 170 ने इसके विरोध में वोट दिया.

सिंह ने बताया कि सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के निर्वाचन क्षेत्र मैनपुरी में कराई गई रायशुमारी में जवाब देने वाले एक लाख सात हजार लोगों में से 98 हजार 283 (91 प्रतिशत) लोगों ने जन लोकपाल विधेयक की हिमायत की जबकि 8372 लोगों ने उसकी मुखालिफत की. उन्होंने बताया कि अम्बेडकरनगर से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सांसद राकेश पाण्डेय के क्षेत्र में एक लाख पांच हजार 105 में से एक लाख दो हजार 37 लोगों ने जनलोकपाल विधेयक का समर्थन किया, जबकि 3068 लोगों ने कहा कि वह पाण्डेय के इस विधेयक के समर्थन नहीं देने पर भी उन्हें वोट देंगे.

गौरतलब है कि आईएसी ने जनलोकपाल विधेयक पर जनता की राय जानने के लिये गत दो अक्तूबर से उत्तर प्रदेश के नौ प्रभावशाली सांसदों के निर्वाचन क्षेत्रों रायबरेली, अमेठी, कौशाम्बी, हमीरपुर, अम्बेडकरनगर, वाराणसी, लखनउ, गाजियाबाद तथा मैनपुरी में जनमत संग्रह शुरू कराया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें