scorecardresearch
 

नरेंद्र मोदी के ऑफिस के सामने युवती ने की खुदकुशी

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के दफ्तर के सामने एक लड़की ने अपनी फरियाद न सुनने का आरोप लगाते हुए खुदकुशी कर ली. गांधीनगर सचिवालय की पार्किंग में 26 साल की लड़की ने जहर पी कर जान दे दी.

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के दफ्तर के सामने एक लड़की ने अपनी फरियाद न सुनने का आरोप लगाते हुए खुदकुशी कर ली. गांधीनगर सचिवालय की पार्किंग में 26 साल की लड़की ने जहर पी कर जान दे दी.

जानकारी के अनुसार अमी कल्पेश पटेल नाम की लड़की अपने मायके वालों के रवैये से परेशान थी. अमी पटेल ने साल 2007 में प्रेम विवाह किया था, जो उसके परिवारवालों को पसंद नहीं था.

परिवार लगातार उसपर शादी तोड़ने के लिए दबाव बना रहा था. बताया जा रहा है कि अमी ने मायके वालों के दबाव में साल 2009 में तलाक भी ले लिया था, लेकिन फिर दोबारा शादी कर ली.

अमी के पति का कहना है कि उसने मायके वालों के खिलाफ पुलिस से भी शिकायत की थी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. 9 अप्रैल को अमी ने मुख्यमंत्री की शुरू की गई वेबसाइट स्वागत ऑनलाइन पर भी अपनी फरियाद लिखी.

करीब 10 दिन बाद भी जब कोई कार्रवाई नहीं हुई, तो उसने सचिवालय के सामने जहर पीकर जान दे दी. खुदकुशी से ठीक पहले अमी ने मुख्यमंत्री के नाम एक चिट्ठी भी लिखी थी. इस चिट्ठी में उसने गुजारिश की है कि उसकी मौत के बाद उसके पति और बच्ची को न्याय मिले.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें