scorecardresearch
 

तिरंगा मामला: गांधीवादियों, शिक्षाविदों की भाजपा से संयम बरतने की अपील

देश के जाने माने गांधीवादियों, शिक्षाविदों एवं लेखकों ने भारतीय जनता पार्टी से श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने के कार्यक्रम को स्थगित करने की मांग करते हुए कहा कि ऐसा कोई काम नहीं किया जाना चाहिए जिससे क्षेत्र का माहौल खराब हो.

देश के जाने माने गांधीवादियों, शिक्षाविदों एवं लेखकों ने भारतीय जनता पार्टी से श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने के कार्यक्रम को स्थगित करने की मांग करते हुए कहा कि ऐसा कोई काम नहीं किया जाना चाहिए जिससे क्षेत्र का माहौल खराब हो.

साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष यू आर अनंतमूर्ति, स्वराज पीठ ट्रस्ट के अध्यक्ष राजीव बोरा, सामाजिक मनोचिकित्सक आशीष नंदी, प्रो. डी एल सेठ, स्वराज पर वैश्विक गांधीवादी आंदोलन की संयोजक डा. नीरू बोरा, एकता परिषद के अध्यक्ष पी वी राजगोपाल, वरिष्ठ पत्रकार रामबहादुर राय, वरिष्ठ गांधीवादी कांति भाई शाह, उद्योगपति महेश के. शाह, आरटीआई कार्यकर्ता मनीष सिसौदिया की ओर से जारी बयान में भाजपा से संवेदनशील राज्य जम्मू कश्मीर के प्रति संयम बरतने का आग्रह किया गया है.

बयान के अनुसार, ‘जम्मू कश्मीर जैसे संवेदनशील राज्य की संवेदनशील स्थिति को देखते हुए कोई भी उकसावे जैसी कार्रवाई संघर्ष की स्थिति पैदा कर सकती है. जम्मू कश्मीर का आम आदमी आज असमंजस की स्थिति में है.’ उन्होंने कहा कि भाजपा युवा इकाई ने लाल चौक पर तिरंगा फहराने का कार्यक्रम बनाया है और यह राज्य में शांति स्थापित करने की राह में बाधक बन सकती है.

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का कश्मीरियों के प्रति प्रेम का उल्लेख करते हुए बयान में पार्टी से ऐसे किसी कार्य से बचने का आग्रह किया गया है जिससे घाटी में हिंसा का एक और दौर उत्पन्न हो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें