scorecardresearch
 

सुरेश प्रभु ने कहा- 200 से ज्यादा लोगों ने रेलवे क्रासिंग पर गंवाई जान

2014-15 में अभी तक रेल दुर्घटनाओं में कुल 292 लोगों की मौत हुई है. रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस बात की जानकारी राज्यसभा में दी.

साल 2014-15 में रेल दुर्घटनाओं में कुल 292 लोगों ने अपनी जान गंवाई है. इस बात की जानकारी राज्यसभा में रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने एक सवाल के लिखित जवाब में दी. उन्होंने एक सवाल के जवाब में राज्यसभा को बताया कि 2014-15 में कुल 135 बड़ी दुर्घटनाएं हुईं जिनमें से 50 बिना चौकीदार वाले फाटकों पर और छह दुर्घटनाएं चौकीदार वाले फाटकों पर हुईं.

150 से भी ज्यादा लोगों ने गंवाई जान

प्रभु ने बताया कि 2014-15 में रेल फाटकों पर हुयी दुर्घटनाओं में 161 लोगों की मौत हुई थी. उन्होंने कहा कि इस साल 11 नवंबर तक 69 दुर्घटनाएं हुयीं जिनमें 92 लोगों की मौत हो गयी. रेल मंत्री के मुताबिक फाटकों पर दुर्घटनओं को रोकने के लिए कई उपाय किए गए हैं. इन उपायों में सामाजिक जागकरूता के लिए एसएमएस अभियान शुरू किया जाना शामिल है.

बच्चे को बर्थ देने के लिए लेना होगा पूरा टिकट
अगर आप अपने 12 साल तक के बच्चे को लेकर रेल में यात्रा करते हैं तो आपको उसका अब पूरा टिकट खरीदना होगा. दरअसल, रेलवे ने बच्चों के हाफ टिकट लेने पर बर्थ न देने का फैसला किया है. रेलवे नियमों के मुताबिक 5 साल से लेकर 12 साल तक बच्चों का आधा टिकट लगता है. अभी इन बच्चों को आरक्षित श्रेणी में टिकट बुक कराने पर हाफ टिकट के बावजूद पूरी बर्थ मिलती है. लेकिन रेलवे ने अगले साल 10 अप्रैल से इस नियम में बदलाव कर दिया है.

10 अप्रैल 2016 से 5 साल से 12 साल के बच्चे का हाफ टिकट लेने पर बर्थ नहीं मिला करेगी. अगर आपको बच्चे के लिए बर्थ चाहिए तो आपको पूरा टिकट खरीदना पड़ेगा. रेलवे के इस फैसले को लेकर कुछ लोगों में नाराजगी है तो कुछ लोगों ने इसको सही भी बताया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें