scorecardresearch
 

देश भर के 25 रेलवे स्टेशन बनेंगे डिजी-पे स्टेशन

वित्तवर्ष 2017-18 में भारतीय रेलवे देशभर के 25 महत्वपूर्ण स्टेशनों को पूरी तरह से डिजी-पे स्टेशन बनाने की तैयारी कर रहा है.

कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देने की रेलवे की तैयारी कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देने की रेलवे की तैयारी

कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देने के लिए रेलवे ने कमर कस ली है. दक्षिण मध्य रेलवे का काचीगुड़ा रेलवे स्टेशन देश का पहला ऐसा रेलवे स्टेशन बन चुका है, जहां पर हर तरीके की सुविधा डिजिटल पेमेंट पर आधारित है. इस स्टेशन पर हर तरीके का लेनदेन कैशलेस तरीके से किया जा सकता है. रेलवे ने यहां पर मोबाइल पेपर लिस्ट टिकटिंग के साथ-साथ डेबिट और क्रेडिट कार्ड के जरिये कैशलेस पेमेंट करने की सुविधा मुहैया कराई है.

दरअसल रेल मंत्रालय इस बात पर जोर दे रहा है कि किस तरह से पूरी तरह से डिजिटल पेमेंट को लागू किया जाए. वित्तवर्ष 2017-18 में भारतीय रेलवे देशभर के 25 महत्वपूर्ण स्टेशनों को पूरी तरह से डिजी-पे स्टेशन बनाने की तैयारी कर रहा है. रेलवे के आला अफसरों के मुताबिक, इन महत्वपूर्ण स्टेशनों में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन, मुंबई का सीएसटी रेलवे स्टेशन, बेंगलुरु रेलवे स्टेशन, वाराणसी, गोरखपुर, लखनऊ, भोपाल का हबीबगंज रेलवे स्टेशन, जबलपुर, चंडीगढ़, अमृतसर, श्रीनगर, देहरादून, भुवनेश्वर और गुवाहाटी रेलवे स्टेशन शामिल हैं.

डिजी-पे रेलवे स्टेशन बनने के लिए पूरे रेलवे स्टेशन पर टिकट काउंटर, पार्सल ऑफिस, क्लॉक रूम, फूड कोर्ट, पार्किंग, रिटायरिंग रूम, प्रीपेड एसी वेटिंग हॉल, टी-स्टॉल, फ्रूट जूस सेंटर, कैटरिंग यूनिट, बुक स्टॉल और डेरी पार्लर जैसी तमाम उपभोक्ता सुविधाओं को पूरी तरह से डिजिटल पेमेंट से लैस होना पड़ेगा. रेलवे ने इसके लिए देश की सबसे बड़ी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से टाइ-अप किया है. देश के सभी बड़े स्टेशनों पर पॉइंट ऑफ सेल मशीनें लगाई जा रही हैं. आने वाले दिनों में ज्यादातर रेलवे स्टेशनों पर कैशलेस पेमेंट की सुविधा देने का इंतजाम कर लिया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें