scorecardresearch
 

कोटा में 48 घंटे में 9 और बच्चों ने तोड़ा दम, अब तक 100 की मौत

राजस्थान के कोटा में अस्पताल में बच्चों के मरने का सिलसिला जारी है. यहां पर 9 और बच्चों की मौत हो गई है, जिसके बाद यह आंकड़ा 100 हो गया है.

कोटा में नहीं थम रही बच्चों की मौत (प्रतीकात्मक तस्वीर) कोटा में नहीं थम रही बच्चों की मौत (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • कोटा में दो दिनों के भीतर अस्पताल में 9 और बच्चों की मौत हो गई
  • बच्चों की मौत को लेकर विपक्ष लगातार कर रहा है सरकार पर हमला

राजस्थान के कोटा में अस्पताल में बच्चों के मरने का सिलसिला जारी है. यहां पर 9 और बच्चों की मौत हो गई है, जिसके बाद यह आंकड़ा 100 हो गया है. अधिकारियों ने कहा कि जेके लोन अस्पताल में पिछले दो दिन में 9 और बच्चों की मौत हुई है, जिसके बाद अब तक 100 बच्चों की मौत हो चुकी है. 23-24 दिसंबर को 48 घंटे की अवधि के दौरान सरकारी अस्पताल में 10 बच्चों की मौत के बाद राज्य सरकार विपक्ष के निशाने पर है.

BJP ने गहलोत सरकार पर साधा निशाना

बच्चों की मौत पर रिपोर्ट तैयार करने के लिए बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सांसदों की एक समिति गठित की थी. बीजेपी सांसदों की समिति ने प्रदेश के अशोक गहलोत सरकार को जमकर लताड़ लगाई है. बीजेपी समिति ने अस्पताल की हालत के लिए प्रशासनिक लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया है. बीजेपी सांसदों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा से मांग की है कि वे खुद कोटा पहुंचकर बच्चों की मौत के मामले में जरूरी कार्रवाई करें.

दौसा से बीजेपी की सांसद जसकौर मीणा ने कहा कि जेके लोन अस्पताल में सीलन और इंफेक्शन फैल रहा है. वहीं राज्यसभा सांसद कांता कर्दम ने कहा कि अस्पताल में स्टाफ और चिकित्सकों का व्यवहार बहुत गंदा है.

स्वास्थ्य मंत्री बोले- वसुंधरा की वजह से बदतर हालत

वहीं दूसरी ओर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कोटा के जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत के मामले में बीजेपी पर हमला बोला था. रघु शर्मा ने कहा था कि अगर बीजेपी अपने कार्यकाल के दौरान इस अस्पताल में हुए बच्चों की मौत का आंकड़ा देख ले तो शायद आलोचना नहीं करे. हमने लगातार मौत के आंकड़ों को कम किया है और करते जा रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री रघुशर्मा ने कहा था कि कोटा के इस अस्पताल के लिए जितनी रकम आवंटित हुई थी उसे पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने डायवर्ट कर अपने चुनाव क्षेत्र झालावाड़ के अस्पताल को दे दिया था. इसी वजह से वहां पर पाइपों से ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं हो पाई और हम जल्दी पैसा आवंटित कर इसकी व्यवस्था करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें