scorecardresearch
 

गौरव यात्रा पर निकलीं राजे को बाड़मेर में करना पड़ा विरोध का सामना, दिखाए काले झंडे

जनसभा में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जैसे ही अपना संबोधन शुरू किया सभा स्‍थल में मौजूद कुछ लोगों ने काले झंडे दिखाते हुए ‘उनके खिलाफ नारे लगाने शुरू कर दिए. पुलिस ने विरोध कर रहे लोगों पकड़ लिया और सभास्‍थल से बाहर ले गई.

बाढ़मेर में वसुंधरा राजे बाढ़मेर में वसुंधरा राजे

सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजामों के बावजूद राजस्थान की मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे को बाड़मेर में शनिवार को आयोजित एक जनसभा में विरोध में नारे लगाये और काले झंडे दिखाए गए. पुलिस ने इन लोगों पकड़ लिया और उन्‍हें सभा स्‍थल से बाहर ले गई. राजे ने भी अपने संबोधन में इस घटना का जिक्र किया.

राजे अपनी राजस्‍थान गौरव यात्रा के तहत यहां आई थीं. जनसभा में राजे ने जैसे ही अपना संबोधन शुरू किया, सभा स्‍थल में मौजूद कुछ लोगों ने काले झंडे दिखाते हुए उनके खिलाफ नारे लगाने शुरू कर दिए. पुलिस ने विरोध कर रहे लोगों पकड़ लिया और सभास्‍थल से बाहर ले गई.

अपने संबो‍धन में घटना का जिक्र करते हुए राजे ने कहा कि समाज में तरह-तरह के लोग होते हैं और ऐसे लोग आपको मिल ही जाएंगे. उन्‍होनें कहा कि यह दुनियादारी है, लेकिन चार लोग मिलकर किसी प्रदेश के विकास को नहीं रोक सकते.

गौरतलब है कि मुख्‍यमंत्री की सभा को लेकर बाड़मेर में सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किए गए थे. करीब तीन हजार पुलिसकर्मियों को सुरक्षा व्‍यवस्‍था में तैनात किया गया था. कड़ी सुरक्षा जांच के बाद लोगों को सभा स्‍थल पर जाने दिया जा रहा था. काले कपड़े पहने किसी भी व्‍यक्ति को सभा स्‍थल में प्रवेश नहीं दिया गया. उनके कपड़े सभा स्‍थल से बाहर रखवाने के बाद ही उन्‍हे सभा स्‍थल में जाने दिया गया. इतने कड़े सुरक्षा बंदोबस्‍तों के बावजूद कुछ लोग काले झण्‍डे लेकर सभास्‍थल तक जाने में सफल हो गए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×