scorecardresearch
 

'हाउडी मोदी' पर गहलोत का तंज- ट्रंप की जगह कोई और बना राष्ट्रपति तो क्या होगा

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे देश के प्रमुख के लिए चुनाव प्रचार कर गलत परंपरा शुरू की है. मैं इसकी निंदा करता हूं.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (IANS) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (IANS)

  • गहलोत ने कहा, ट्रंप के लिए प्रचार कर मोदी ने गलत परंपरा शुरू की है
  • पीएम मोदी से जम्मू कश्मीर को लेकर सवाल पूछा जाना चाहिए: गहलोत

अमेरिका के ह्यूस्टन में 'हाउडी मोदी' इवेंट पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने निशाना साधा है. अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे देश के प्रमुख के लिए चुनाव प्रचार करके गलत परंपरा शुरू की है. मैं इसकी निंदा करता हूं. उन्होंने कहा, कल अगर ट्रंप की जगह कोई और राष्ट्रपति बन जाता है तो भारत-अमेरिका के रिश्तों का क्या होगा.

राजस्थान में होने वाले पंचायत और स्थानीय निकाय के चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि 'जिस तरह से धर्म के आधार पर समाज को बांटने की कोशिश की जा रही है, वह सब आप लोग देख रहे हैं. धारा 370 और कश्मीर को लेकर एक उन्माद पैदा किया जा रहा है, जबकि सच्चाई यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कश्मीर को लेकर सवाल पूछा जाना चाहिए कि आखिरकार इतने दिनों तक कश्मीरी लोगों क्यों बंद करके रखा गया. जिस तरह के हालात कश्मीर में हैं, सरकार को इसका जवाब देना चाहिए. सरकार अपनी जवाबदेही से भाग नहीं सकती है. अगर कोई जवाब मांगता है तो उस पर ही सवाल खड़ा कर देते हैं.'

राज्य में पंचायत चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, 'हमारी तैयारी पूरी है. हमने और कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने मिलकर संगठन की रणनीति बनाई है. हम 9 महीने के अपने सरकार के कामकाज पर वोट मांगने के लिए जाएंगे. नगर निगम में सीधे चुनाव करने के कानून पर गहलोत ने कहा कि हमने इस बारे में पुनर्विचार करने के लिए स्वास्थ्य शासन मंत्री शांति धारीवाल की अध्यक्षता में कमेटी बनाई है और उस कमेटी में जो भी निर्णय होगा उसे लागू किया जाएगा. लोकतंत्र में जनता और कार्यकर्ता सर्वोपरि होता है.'

गौरतलब है कि एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर मेयर के सीधे चुनाव होते हैं तो लोकसभा चुनाव की तरह इसमें कांग्रेस हार सकती है. कांग्रेस ने सत्ता में आने के बाद विधानसभा में विधेयक पेश कर कानून बना दिया था कि मेयर के चुनाव सीधे होंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें