scorecardresearch
 

मोबाइल की ऐसी लत, 5 दिन से सोया नहीं युवक, न घरवालों को पहचान रहा, न कुछ खा रहा!

20 वर्षीय युवक को मोबाइल की ऐसी लत लगी कि वह अब मानसिक रोगी बन गया है. युवक ना ही अपने घरवालों को पहचान रहा है और ना ही कुछ बोल पा रहा है.

X
मोबाइल की लत का शिकार अकरम मोबाइल की लत का शिकार अकरम
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजस्थान के चुरु का मामला
  • अकरम का चल रहा है इलाज

राजस्थान के चूरू जिले के साहवा कस्बे के 20 वर्षीय युवक को मोबाइल की ऐसी लत लगी कि वह अब मानसिक रोगी बन गया है. युवक ना ही अपने घरवालों को पहचान रहा है और ना ही कुछ बोल पा रहा है. पिछले एक महीने से अपना काम धंधा छोड़कर मोबाइल में लगा युवक पांच दिन से सो भी नहीं पाया है.

जब तबीयत ज्यादा बिगड़ गई तो परिजन उसे चूरू के राजकीय भरतिया अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड लेकर पहुंचे. जहां मनोचिकित्सक के द्वारा युवक का इलाज शुरू किया गया है. युवक के परिवार में चाचा अरबाज ने बताया कि 20 वर्षीय अकरम गांव में ही बिजली की मोटर वाइडिंग का काम करता है.

पिछले एक महीने से अकरम अधिकतर समय मोबाइल पर बिताने लगा था. मोबाइल के चलते उसने अपना काम भी छोड़ दिया था. परिजनों द्वारा बार-बार कहने पर भी वह मोबाइल को नहीं छोड़ता था. वहीं पिछले कुछ दिनों से तो वह पूरी-पूरी रात मोबाइल पर चैट और गेम खेलता रहता. इस कारण उसने खाना पीना भी छोड़ दिया था.

अकरम की मां ने बताया कि अब तो अकरम खाना भी नहीं खा रहा, रात को जब खाना देने कमरे में जाती हूं तो खाने को बेड पर बिखेर देता. इस संबंध में मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉ. जितेन्द्र कुमार ने बताया कि युवक की सिटी स्केन करवाई गई है, जिसका इलाज शुरू किया गया है.

(रिपोर्ट- विजय चौहान)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें