scorecardresearch
 

पंजाब में पोस्टर वॉर शुरू, आम आदमी पार्टी ने किया बहुमत का दावा

पंजाब में विधान सभा चुनावों में अभी समय है, लेकिन सभी राजनैतिक दल अभी से ही दल बल के साथ चुनाव प्रचार में लग गए हैं. अभी राजनैतिक रैलियों का दौर शुरू नहीं हुआ है, लेकिन सोशल मीडिया, दीवारों पर पोस्टर और सर्वे वॉर शुरू हो गया है.

X
आप ने किया पूर्ण बहुमत का दावा
आप ने किया पूर्ण बहुमत का दावा

पंजाब में विधान सभा चुनावों में अभी समय है, लेकिन सभी राजनैतिक दल अभी से ही दल बल के साथ चुनाव प्रचार में लग गए हैं.

AAP का दावा- मिलेगा पूर्ण बहुमत
हालांकि अभी राजनैतिक रैलियों का दौर शुरू नहीं हुआ है, लेकिन सोशल मीडिया, दीवारों पर पोस्टर और सर्वे वॉर शुरू हो गया है. अकाली दल, बीजेपी और कांग्रेस जहां अभी सोशल मीडिया पर ही एक्टिव थे की आम आदमी पार्टी ने चार कदम आगे बढ़ते हुए पूरे पंजाब में पोस्टर लगाकर दावा किया है की सर्वे में आप को 100 तो कांग्रेस को 10 व अकाली-बीजेपी को सिर्फ 7 सीटें ही मिलेंगी. वहीं उसके उल्ट अकाली और कांग्रेस अपने पक्ष में दावे कर रहे हैं.

कांग्रेस ने भी किया बहुमत का दावा
भठिंडा में आम आदमी पार्टी के सर्वे वाले पोस्टरों में पंजाबी में लिखा है 'आप की बनेगी सरकार- सी वोटर का सर्वे.' सर्वे के जरिए दावा किया गया है कि आप को 100 तो कांग्रेस को 10 व अकाली-बीजेपी गठबंधन को सिर्फ 7 सीटें ही मिलेंगी. अब इसी तर्ज पर सोशल मीडिया पर कांग्रेस का पोस्टर वायरल हो रहा है, जिसमें इसके उल्ट परिणाम कांग्रेस के पक्ष में दिखाए गए हैं.

'दिल्ली की कमाई पंजाब में खर्च कर रही AAP'
नेता आप सी. डी. कंबोज ने कहा कि हमारा सर्वे हवा हवाई नहीं है, बल्कि एक न्यूज पेपर और जानी-मानी एजेंसी ने किया है. हमने इसको सिर्फ आगे प्रसारित किया है. पंजाब के मुख्यमंत्री के मीडिया एडवाइजर हरचरण सिंह बेंस ने कहा कि ये सर्वे फर्जी है. ये दिल्ली के टैक्स पेयर की गाढ़ी कमाई दूसरे राज्यों में उड़ाने का काम आप पार्टी कर रही है. हमने सर्वे नहीं किया है लेकिन दावा है की हम अच्छी मेजोरिटी से ये चुनाव जीत रहे हैं.

कांग्रेस के लाल सिंह ने कहा कि देखिये कांग्रेस की तो मेजोरिटी आती दिख रही है. लेकिन आप के सर्वे की सच्चाई ये है की दिल्ली का पैसा यहां खर्च हो रहा है. खुद न खास्ता कल को ये यहां सत्ता में आ गए तो यहां का पैसा कहीं और लगाएंगे.

वोटर होगा हैरान
कांग्रेस ने जहां चुनाव प्रचार की कमान प्रशांत किशोर को थामी है तो वहीं अकाली दल भी चुनाव प्रचार का काम करने वाली बड़ी कंपनी के संपर्क में है. लेकिन जिस तरीके का प्रचार पंजाब में सोशल मीडिया पर शुरू हो चूका है, उससे कहीं न कहीं वोटर जरूर परेशान और हैरान नजर आ रहा है. सवाल है कि जब तीनों ही बड़ी पार्टियों को बहुमत मिल रहा है तो आखिर चुनाव का परिणाम किसके खिलाफ होगा?.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें