scorecardresearch
 

ससुराल के पैसों पर विदेश में सेटल, पति को वीजा पर बुलाने से इनकार, पंजाब में लड़के बन रहे फ्रॉड का शिकार

पंजाब में इस समय कई लड़कों संग बड़ा धोखा हो रहा है. ये धोखा कर रही हैं वो पत्नियां जों पहले खुद तो विदेश में सेटल हो जाती हैं, लेकिन जब स्पाउस वीजा पर पति को बुलाने की बात आती है, तो पत्नी ऐसा करती ही नहीं और किसी और के साथ विदेश में सेटल हो जाती हैं.

पंजाब में लड़के बन रहे फ्रॉड का शिकार पंजाब में लड़के बन रहे फ्रॉड का शिकार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब में लड़कियों का ससुराल वालों को धोखा
  • विदेश जाने के बहाने पतियों को छोड़ा अकेला
  • कई मामले दर्ज, कार्रवाई में देरी

पंजाब में इस समय कई लड़कों संग बड़ा धोखा हो रहा है. ये धोखा कर रही हैं वो पत्नियां जों पहले खुद तो विदेश में सेटल हो जाती हैं, लेकिन जब स्पाउस वीजा पर पति को बुलाने की बात आती है, तो पत्नी ऐसा करती ही नहीं और किसी और के साथ विदेश में सेटल हो जाती है. पंजाब में ऐसे अब हजारों मामले सामने आ चुके हैं. कार्रवाई ज्यादा होती नहीं और फ्रॉड का दायरा बढ़ता जा रहा है.

पंजाब में लड़कियों का ससुराल वालों को धोखा

पंजाब के बराला में 23 साल के लवप्रीत की भी ऐसी ही कहानी है. सपने देखे थे पत्नी संग विदेश में सेट होने के, लेकिन पत्नी ने धोखा दिया और पति ने सुसाइड कर लिया. अब लवप्रीत का परिवार बुरी तरह टूट चुका है. दावा किया जा रहा है कि उनकी तरफ से लड़की की पढ़ाई के लिए पूरे 25 लाख रुपये खर्च किए गए थे. बाद में कनाडा भेजने के लिए IELTS वाला टेस्ट भी करवा दिया था. जब ये अंग्रेजी टेस्ट क्लियर हो लिया, तब लवप्रीत ने अपनी पत्नी को कनाडा भिजवा दिया. ये घटना शादी से पहले की थी. बाद में लड़की वापस आई और लवप्रीत से शादी कर ली. शादी के बाद पत्नी दोबारा कनाडा गई और फिर कभी वापस नहीं आई.

लवप्रीत ने दुख में अपनी जान दे दी. अब लड़के के परिवार वाले लड़की पर और उसके परिवार पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं. लेकिन लड़की के पिता और मां खुद को इस विवाद से भी दूर रख रहे हैं और अपनी बेटी को भी निर्दोष बता रहे हैं.

कैसे होता है ये फ्रॉड

ऐसे कई और मामले हैं जहां पर लड़कियों ने पहले ससुराल पक्ष से मोटी रकम ली, विदेश में पढ़ने का मौका तलाशा, फिर कभी लौटकर नहीं आईं. इस बारे में अब्नी वेलफेयर सोसाइटी के चेयरमैन राकेश शर्मा बताते हैं कि पंजाब में कई लड़के अपनी पढ़ाई पर ध्यान नहीं देते हैं. वहीं दूसरी तरफ लड़कियां IELTS पास कर जाती हैं. ऐसे में जिस लड़के के सारे पैसे लगते हैं, वो खाली रह जाता है, वहीं लड़की के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हो पाती. 

पंजाब की महिला आयोग ने भी ऐसे बढ़ते अपराधों पर अपनी चिंता जाहिर कर दी है. उनके मुताबिक ये अलग तरीके की दहेज की प्रथा चिंता बढ़ाने वाली है. केंद्र और राज्य को मिलकर इस अपराध पर रोक लगानी चाहिए. जानकारी मिली है कि महिला आयोग के पास अभी 1000 से ज्यादा ऐसे मामले दर्ज हैं

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें